मांसपेशियों के दर्द को दूर करने के लिए अपनाएं ये ईजी टिप्स

 

लाइफस्टाइल डेस्क। मांसपेशियों में दर्द एक ऐसी समस्या है, जो किसी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है। भारी सामान उठाने और लंबे समय तक वर्कआउट करने की वजह से मांसपेशियों में खिंचाव आता है। खासकर कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम के दौरान लंबे समय तक एक ही पॉस्चर में बैठने से भी मांसपेशियों में खिंचाव पैदा होता है। इसके चलते मांसपेशियों में दर्द होने लगता है। कई लोग इस समस्या से निजात पाने के लिए दर्द निवारक दवाइयों का सेवन करते हैं। हालांकि, यह तत्कालीन उपचार है। इससे तत्काल दर्द में आराम मिलता है, लेकिन यह दीर्घकालीन उपाय नहीं है। अगर आप भी मांसपेशियों के दर्द से परेशान हैं और इससे निजात पाना चाहते हैं, तो इन घरेलू उपाय को अपना सकते हैं। आइए जानते हैं-

सरसों का तेल का इस्तेमाल करें

सरसों के तेल को प्राकृतिक औषधि माना जाता है। इसके उपयोग से त्वचा की सतह पर रक्त प्रभाव बढ़ाने में मदद मिलती है। साथ ही अकड़न और दर्द में राहत मिलती है। इसके लिए सरसों के तेल में लहसुन की दो कलियां डालकर हल्का गुनगुना गर्म (नाममात्र) कर लें। अब गुनगुने तेल हाथों और पैरों की अच्छी तरह मालिश करें। इससे ऐठन कम होती है और दर्द में राहत मिलती है। साथ ही लहसुन के तेल से पीठ दर्द, गर्दन दर्द, घुटने के दर्द में आराम मिलता है ।

अदरक का इस्तेमाल करें

आयुर्वेद में अदरक को औषधि माना जाता है। डॉक्टर्स हमेशा बदलते मौसम और कोरोना महामारी के दौरान इम्यून सिस्टम मजबूत करने के लिए अदरक युक्त काढ़ा और चाय का सेवन करने की सलाह देते हैं। अदरक सूजन विरोधी रूप में कार्य करता है और रक्त परिसंचरण और रक्त प्रवाह को बेहतर बनाता है। इसके सेवन से मांसपेशियों के दर्द में भी आराम मिलता है। एक शोध में यह खुलासा हुआ है कि मांसपेशियों के दर्द में अदरक का सेवन फायदेमंद होता है। इसके लिए अदरक को पेन किलर भी कहा जाता है।

सेब का सिरका का यूज करें

हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो मांसपेशियों के दर्द को दूर करने में सेब का सिरका भी गुणकारी है। इसके लिए एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच सेब का सिरका मिलाकर पीने से काफी आराम मिलता है। सेब के सिरके में पोटैशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो मांसपेशियों के दर्द और ऐठन को दूर करने में सहायक सिद्ध होता है। इसके अलावा, आप बर्फ के टुकड़ों का भी उपयोग कर सकते हैं।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक