जानें- सितंबर में क्यों हो रही भारी बारिश, किसानों से लेकर सर्दियों के मौसम पर पड़ेगा असर

 

 

नई दिल्ली। मानसून इस साल देरी से विदा हो रहा है। 2021 लगातार दूसरा साल है जब सितंबर के महीने में भारी बारिश दर्ज हो रही है। ऐसे में किसानों की फसलों से लेकर इसका प्रभाव सर्दियों के मौसम पर भी पड़ेगा। मौसम विभाग की तरफ से लगातार सितंबर में कहीं ना कहीं बारिश का अलर्ट जारी किया जा रहा है। दिल्ली, हरियाणा हो या उत्तर प्रदेश। सितंबर महीने में हुई रिकार्डतोड़ बारिश के चलते कई राज्यों में बाढ़ तक आ गई। तो आइये हम जानते हैं कि इस साल सितंबर में इतनी बारिश क्यों हो रही है इसका प्रभाव किसानों और सर्दियों के मौसम पर कितना पड़ेगा।

जानें-इस साल सितंबर महीने में क्यो रही है इतनी बारिश

माना जा रहा है कि सितंबर में भी रिकार्डतोड़ बारिश होने और मानसून की आगे खिसकती विदाई जलवायु परिवर्तन के साथ-साथ हिंद महासागर एवं बंगाल की खाड़ी में लगातार चल रही हलचल प्रमुख भूमिका रही है। आमतौर पर सितंबर महीने में इतनी बारिश नहीं देखी जाती। ये मानसून के लौटने का वक्त होता है, लेकिन इस बार सितंबर महीने में जोरदार बारिश हो रही है। पिछले साल भी सितंबर में भारी बारिश दर्ज हुई थी हालांकि, इस साल इस साल के सितंबर में ज्यादा बारिश दर्ज हुई है।

किसानों की फसलों पर पड़ेगा प्रभाव, जल्द शुरू होगी कड़ाके की ठंड

मानसून की देरी से विदाई के चलते किसानों पर भी प्रभाव पड़ रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक, देश के जिन इलाकों में आरेंज अलर्ट जारी किया गया है, उन जिलों के किसानों को खेतों में जल जमाव से निपटने के लिए तैयार रहना चाहिए। इसके साथ ही धान, कपास, गन्ना जैसी फसल लगाने वाले किसानों को अलर्ट रहने को भी कहा गया है। वहीं माना जा रहा है कि इस बार जल्द ही कड़ाके की ठंड शुरू हो जाएगी। बता दें कि आज भी देश के कई इलाकों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

 

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !