प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना के नाम पर दर्जनों ग्रामीण महिलाओं से ठगे लाखों रुपये, एक गिरफ्तार, ठगी के पैसों से खरीदी बुलेट जब्त

 

 भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल। प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना के नाम पर बिजौलियां क्षेत्र की 80-90 महिलाओं से लाखों रुपये की राशि ठगने के मामले में पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का कहना है कि दो आरोपित अभी फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है। खास बात यह है कि पकड़े गये आरोपित ने अपने हिस्से में आई ठगी की राशि से बुलेट बाइक भी खरीद ली थी। यह बुलेट अब पुलिस ने मुकदमे में जब्त कर ली है। 
बिजौलियां थाने की कास्या चौकी प्रभारी हरिराम ने हलचल को बताया कि कुछ समय पहले बिजौलियां थाना सर्किल में तीन युवक आये और करीब एक महिने तक गांव-गांव घूमे। इस दौरान इन युवकों ने गांव की भोली-भाली महिलाओं को प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना  की जानकारी देते हुये कहा कि इस योजना के तहत प्रत्येक महिला को खाता खुलवाने पर एक महीने बाद सरकार एक लाख रुपये जमा करवायेगी। इसके बाद 35 प्रतिशत राशि काटकर शेष राशि जमा करवानी होगी। 
इन युवकों ने खुद को ई-मित्र पर कार्यरत बताते हुये 80-90 ग्रामीण महिलाओं के इस स्कीम के नाम पर फार्म जमा करते हुये उनसे आईडी और बैंक पास बुक की कॉपियां ली। साथ ही प्रति फार्म फाइल चार्ज के नाम पर 4500 रुपये भी महिलाओं से वसूले। ये लोग करीब एक महिने तक बिजौलियां इलाके में घूमते हुये महिलाओं से ठगी करते रहे। बाद में जब इनके बताये गये समय में खाते में पैसे जमा होने का समय नजदीक आया तो ये लोग वहां से चलते बनेे। 
उधर, समय पूरा होने के बाद भी जब खातों में राशि नहीं आई तो महिलाओं ने खुद को ठगा महसूस किया। आरोपितों की ओर से दी गई आईडी भी जांच में फर्जी निकली थी। आईडी में आरोपितों का ऐड्रेस गलत था। इसे लेकर रामपुरिया के कमलेश मीणा ने बिजौलियां थाने में मामला दर्ज करवाया था। कमलेश ने अपनी पत्नी सहित 11 जनों के साथ इस तरह की ठगी की बात कही थी। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। जांच के बाद पुलिस ने इस मामले में अब मांडल क्षेत्र के भादू निवासी जितेंद्र सिंह पुत्र जसवंतसिंह राजपूत को गिरफ्तार कर लिया। 
आरोपित से पूछताछ की तो उसने बताया कि फाइल चार्ज 4500 रुपये तय किये गये थे, लेकिन महिलाओं में से किसी ने एक हजार, किसी ने 1500 तो किसी ने दो हजार रुपये ही दिये थे। इस राशि में से उसके हिस्से में एक लाख दस हजार रुपये आये, जिसमें से 75 हजार रुपये जमा कराकर व शेष फायनेंस करवाते हुये उसने बुलेट खरीद ली थी। पुलिस ने आरोपित की यह बुलेट भी जब्त कर ली है। जांच अधिकारी का कहना है कि आरोपित के दो साथियों की तलाश की जा रही है।

बनेड़ा इलाके में भी हो चुकी है पहले ठगी
सूत्रों का कहना है कि इस तरह की ठगी पहले बनेड़ा थाना इलाके में भी हो चुकी है। वहां भी पुलिस को शिकायत दी गई, लेकिन पुलिस ने इसे परिवाद में रखा था। बाद में मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई। बताया जा रहा है कि दोनों पक्षों में समझौता करवा दिया गया था।    

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक