वुहान इंस्टीट्यूट को कोरोना वायरस संबंधित रिसर्च के लिए अमेरिका से मिला था फंड- रिपोर्ट

 


वाशिंगटन। चीन (China)  के वुहान स्थित वायरोलाजी इंस्टीट्यूट (WIV)  पर इस बात को लेकर संदेह लगते रहे हैं कि यहीं से घातक महामारी कोविड-19 (Pandemic COVID-19) का कारण कोरोना वायरस लीक हुआ है। अब पब्लिक कागजातों से यह बात सामने आई है कि इस इंस्टीट्यूट में कोरोना वायरस के लिए किए जा रहे टेस्ट के लिए अमेरिका की ओर से आर्थिक सहायता की गई। पिछले माह  डेली मेल की एक रिपोर्ट आई जिसके अनुसार, चीन ने रिपब्लिकन सांसदों की उस रिपोर्ट को खारिज कर दिया जिसमें बीजिंग पर COVID-19 की उत्पत्ति पर 'मानव इतिहास में सबसे बड़ा कवर-अप' का आरोप लगाया गया था।

Ads by Jagran.TVपिछले माह की शुरुआत मे अमेरिकी रिपब्लिकन पार्टी की एक रिपोर्ट में ये दावा किया गया कि इस कोरोना वायरस की उत्‍पत्ति चीन में हुई थी। बता दें कि इसके पहले अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कोरोना की उत्‍पत्ति को लेकर चीन को निशाने पर लिया था। इसके बाद अमेरिका के  राष्ट्रपति बाइडन  भी ट्रंप के स्‍टैंड पर कायम रहे। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की टीम कोरोना वायरस की उत्‍पत्ति को लेकर चीन के वुहान का दौरा कर चुकी है। इस रिपोर्ट से चीन पर फिर से सवाल खड़े हुए हैं।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक