एसआई परीक्षा में डमी अभ्यर्थी बैठाने का मामला- अजमेर में दबोचे गये आरोपित को पुलिस ले आई भीलवाड़ा, किया गिरफ्तार

  भीलवाड़ा हलचल । राजस्थान पुुलिस उप निरीक्षक (एसआई) की परीक्षा में फर्जी  अभ्यर्थी को बैठाकर परीक्षा दिलाने वाले गिरोह के एक और सदस्य को पुलिस अजमेर से यहां ले आई, जिसे पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। बता दें कि एक आरोपित मंगलवार को पकड़ा गया था, जिसकी बुधवार सुबह परीक्षा होने वाली थी।  
सुभाषनगर थाना प्रभारी पुष्पा कासौटिया ने हलचल को बताया कि जयपुर कमिश्नरेट की विशेष टीम के निरीक्षक खलील अहमद ने मंगलवार को भीलवाड़ा में आयोजित उपनिरीक्षक परीक्षा में फर्जी अभ्यर्थी बैठाने की संभावना जताई थी। इस सूचना के मुताबिक, वीरेंद्र मीणा को कल अजमेर रोड़ से गिरफ्तार कर उसकी कार जब्त की थी।  वीरेंद्र मीणा स्वयं उप निरीक्षक की परीक्षा देने भीलवाड़ा आया था। उसकी परीक्षा 15 सितंबर को होनी थी।  वीरेंद्र ने अपने दोस्त नारदपुरा, जयपुर निवासी ललित मीणा व दिल्ली निवासी एक अन्य दोस्त जीत से मिलीभगत कर स्वयं की जगह व दोस्त खेमराज की  अजमेर में उपनिरीक्षक की परीक्षा में डमी अभ्यर्थी बैठाने की योजना थी। इसके लिए इन्होंने दिल्ली निवासी जीत नामक युवक से तीन लाख रुपये में सौदा किया।  
सौदे के मुताबिक एडवांस में परीक्षा से पहले गिरोह के सरगना जीत के खाते में 15 हजार रुपये फोन पे के जरिये डाले गये। शेष रकम बाद में देना तय हुआ। इस वार्तालाप की चेटिंग आरोपित के मोबाइल में मिल गई। गिरफ्तार आरोपित वीरेंद्र  पुत्र कैलाशचंद्र मीणा निवासी चक दांथली, पोस्ट बामनी जिला जयपुर ग्रामीण बताया गया है।  उधर, परीक्षा के बाद अजमेर पुलिस ने दूसरे आरोपित कूकस, जयपुर निवासी खेमराज पुत्र डूंगाराम मीणा को दबोच लिया था। उसे बुधवार को सुभाषनगर पुलिस यहां ले आई, जिसे पूछताछ के बाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।
खेमराज के मोबाइल में भी मिली चैटिंग, मोबाइल किया जब्त
पुलिस का कहना है कि दूसरे आरोपित खेमराज की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उसका भी मोबाइल जब्त किया। जांच में आरोपित खेमराज के मोबाइल में भी ललित मीणा व खेमराज के बीच परीक्षा में डमी बैठाने व लेन-देन को लेकर हुई चैटिंग मिली है। इसके अलावा खेमराज का आधार कार्ड  और आईकार्ड भी मिला है। 
ललित के खाते में डाले थे खेमराज ने रुपये
पुलिस ने यह भी बताया कि खेमराज की जगह एसआई की परीक्षा में डमी अभ्यर्थी बैठाने को लेकर हुये तीन लाख रुपये के सौदे की पहली किश्त 15 हजार रुपये खेमराज ने ललित के खाते में फोन पे से डाले थे। 
ललित व जीत की तलाश
पुलिस को परीक्षा में डमी अभ्यर्थी बैठाने वाले गिरोह के सरगना दिल्ली निवासी जीत व जयपुर के ललित मीणा की तलाश है। इन दोनों के पकड़े जाने के बाद कई खुलासे होने की पुलिस ने संभावना जताई है। पुलिस ललित व जीत की तलाश कर रही है।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक