पांसल से कलेक्ट्रेट तक दांडी यात्रा कर नरेगा मजदूर ने मांगी मजदूरी, एक साल से नहीं मिला पैसा, सीईओ ने दिये जांच के आदेश

 

  भीलवाड़ा संपत माली। शहर के नजदीकी पांसल गांव के एक युवक ने नरेगा की एक साल से बकाया मजदूरी नहीं मिलने से शनिवार को पांसल से कलेक्ट्रेट तक दांडी यात्रा की। साथ ही इस अद्र्धनग्न मजदूर युवक ने कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर बकाया मजदूरी दिलाने की मांग की साथ ही सिस्टम पर सवाल भी खड़े किये। उधर, जिला परिषद सीईओ ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिये हैं। 
पांसल निवासी हंसराज पुत्र बालू गाडरी ने हलचल को बताया कि वह पांसल ग्राम पंचायत के अधीन एक साल से नरेगा कार्य पर मजदूरी कर रहा है। इस अवधी में उसकी एक मात्र छुट्टी है, लेकिन इस काम का उसे अब तक भुगतान नहीं किया गया। गाडरी ने कहा कि मजदूरी की मांग को लेकर वह पूर्व में भी कलेक्टर से मिलने आया था, लेकिन उसे तीन घंटे इंतजार के बाद भी नहीं मिलने दिया गया। गाडरी ने सरकारी सिस्टम पर भी सवाल उठाये हैं। यहां तक की उसने बैंक वालों पर भी मिलीभगत के आरोप लगाये हैं। इससे पहले यह युवक पैदल ही पांसल से अद्र्धनग्नावस्था में कलेक्ट्रेट तक पहुंचा। 
उधर, इस मामले को लेकर जिला परिषद सीईओ रामचंद्र बैरवा ने हलचल को बताया कि हंसराज गाडरी से जुड़े इस मामले में जांच के लिए विकास अधिकारी सुवाणा और एईएन को तलब किया है। ये अधिकारी आज टीम के साथ में इस बात की जांच करेंगे कि हंसराज को भुगतान क्यूं नहीं हुआ है। अगर किसी दस्तावेज की कमी और गलती से पेमेंट नहीं हुआ है तो उसे ठीक करवायेंगे। यदि किसी कर्मचारी की गलती की वजह से यह भुगतान नहीं हुआ तो संबंधित कर्मचारी के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच रिपोर्ट मंगलवार तक मंगवाई जायेगी और अगर इसका वाकई अगर भुगतान नहीं हुआ तो भुगतान करवाया जायेगा।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक