वज़न कंट्रोल करना चाहते हैं, तो सुबह करें लेमनग्रास-टी का सेवन

 


लाइफस्टाइल डेस्क। सुबह-सुबह उठकर दूध की चाय पीने के शौकीन हैं तो अपनी इस आदत को बदल लीजिए। पारंपरिक चाय आपकी सेहत बिगाड़ सकती है। चाय में मौजूद निकोटिन का सुबह खाली पेट सेवन करने से पाचन खराब होता है, साथ ही मोटापा भी बढ़ता है। खाली पेट चाय का सेवन आपका ब्लडप्रेशर बढ़ा सकती है, साथ ही आपकी हड्डियां भी कमजोर कर सकती है। आप भी सुबह चाय पीने के शौकीन हैं तो चाय की जगह लेमन ग्रास टी का इस्तेमाल करें। लेमनग्रास टी औषधीय गुणों से भरपूर चाय है, जो वज़न को कंट्रोल करने के साथ ही कई बीमारियों का उपचार भी करती है। इसके सेवन से सर्दी-जुकाम, एनीमिया और सिरदर्द का उपचार किया जा जा सकता है। यह चाय इतनी प्रभावशाली हर्ब्स है जो कोलेस्ट्रॉन को कंट्रोल करती है।

लेमनग्रास चाय के गुण:

इस चाय में मौजूद गुणों की बात करें तो यह एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल, एंटी-कैंसर, एंटीडिप्रेसेंट गुणों से भरपूर हैं। इसमें विटामिन ए, फोलिक एसिड, जिंक, कॉपर, आयरन, पोटैशियम, फास्फोररस, कैल्शियम और मैगनीज़ जैसे तत्व भी मौजूद होते हैं जो हमारे संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए बेहतर हैं।

वज़न कंट्रोल करने के लिए किस तरह असरदार है लेमनग्रास टी:

यह चाय पाचन तंत्र को ठीक रखती है, इसका सेवन करने से उल्टी, दस्थ और पेट दर्द की समस्याओं से निजात मिलती है। यह चाय गैस्ट्रिक की समस्या का बेहतरीन इलाज है। यह वज़न को कंट्रोल करती है, साथ ही मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करती है। इसका सेवन करने से फैट बर्न होता है।आप दूध और चीनी पत्ती वाली चाय की जगह इस चाय का सेवन करके हेल्दी रह सकते हैं। इस चाय में आप चाहें तो शहद का भी सेवन कर सकते हैं। शहद और लेमनग्रास टी आपका तेज़ी से वज़न कंट्रोल करने में बेहद मददगार है।

लेमनग्रास टी की रेसिपी:

सामग्री

1 बंच लेमनग्रास

1 चम्मच नींबू का रस

स्वादानुसार शहद

एक चुटकी सेंधा नमक 

चाय बनाने की विधि:

इस चाय को बनाने के लिए सबसे पहले लेमनग्रास को काट लें। इसके बाद एक पैन में पानी डालकर उबाल लें। इसके बाद इसमें लेमनग्रास डालकर 5 मिनट तक अच्छे से पकाएं। अब इसे एक कप में छान लें। फिर इसमें नींबू का रस, सेंधा नमक और शहद डालकर इसका सेवन करें। 

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक