6 साल की मासूम बच्ची का अपहरण कर आरोपित बोला, मेरी पत्नी को लाओ, बच्ची को ले जाओ, 48 घंटे में पुलिस ने ढूंढ निकाला बच्ची को, आरोपित गिरफ्तार

 


  भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल.
शहर के सुभाषनगर थाना इलाके से दो दिन पहले 6 साल की एक मासूम बच्ची का अपहरण कर लिया गया।  वारदात के बाद अपहरणकर्ता ने बच्ची के परिजनों को धमकाया कि पहले उसकी पत्नी को लाओ, फिर बच्ची को ले जाओ। इन धमकियों के चलते दहशत में आये परिजनों ने पुलिस की मदद ली। करीब 48 घंटे के प्रयास के बाद पुलिस ने नाबालिग बच्ची को दस्तयाब कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। वहीं आरोपित की पत्नी भी लौट आई। उधर, बच्ची को सकुशल लाने वाली टीम का लोगों ने स्वागत किया। 
सुभाषनगर थाना प्रभारी पुष्पा कासौटिया ने हलचल को बताया कि थाना सर्किल की एक कॉलोनी में रहने वाली 6 साल की बच्ची 11 मार्च को शाम करीब साढ़े चार बजे घर के बाहर सहेलियों के साथ खेल रही थी। इसी दौरान बाइक से आया एक व्यक्ति इस बच्ची को चॉकलेट दिलाने के बहाने बाइक पर बैठाकर अपहरण कर ले गया। इसकी भनक परिजनों को लगी तो उन्होंने सुभाषनगर थाने में 11 मार्च को मामला दर्ज करवाया। मामले की जांच एएसआई कमलेश कुमार को दी गई। उन्होंने मामले की जांच शुरू की। उधर, बच्ची को अगवा कर ले जाने वाले व्यक्ति ने बच्ची के परिजनों को धमकी दी कि उसकी पत्नी को पहले लेकर आओ और फिर बच्ची को ले जाओ। 
फोन पर मिली इस धमकी के बाद पुलिस ने मोबाइल नंबर की लोकेशन ट्रेस की। इसके बाद पुलिस टीम बनेड़ा क्षेत्र के जोरावरपुरा पहुंची, जहां से पुलिस ने मासूम बच्ची को अपहरणकर्ता के चंगुल से मुक्त करवाते हुये आरोपित आरके कॉलोनी निवासी चांदमल 45 पुत्र गोवर्धन भील को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बाल कल्याण समिति के सामने बच्ची को पेश किया, जहां से बच्ची को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया। उधर, मासूम बच्ची को मात्र 48 घंटे में सुरक्षित दस्तयाब करने   पर  क्षेत्रीय पार्षद व अन्य गणमान्य लोगों ने थाने पहुंच कर थाना प्रभारी कासौटिया व एएसआई कमलेश सहित अन्य पुलिसकर्मियों का स्वागत किया। 
पुलिस का कहना है कि आरोपित की पत्नी भी बच्ची के अपहरण की खबर मिलने पर आज थाने पहुंच गई। उसकी भी गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज थी। पुलिस का कहना है कि बच्ची के अपहरण के आरोपित का आरोप था कि बच्ची के परिवार का परिचित ही उसकी पत्नी को फरार कर ले गया था। फरारी में बच्ची के परिजनों ने आरोपित की मदद की थी। इसके बदले ही उसने बच्ची को अगवा किया। पुलिस आरोपित से पूछताछ कर रही है। 

एक ही मकान में किराये से रहते थे तीन परिवार
थाना प्रभारी का कहना है कि पीडि़त बच्ची का परिवार, अपहरणकर्ता का परिवार व  पत्नी को पहले भगा ले जाने वाला व्यक्ति आरके कॉलोनी में ही एक मकान में किराये से रहते थे। प्रभु नामक व्यक्ति, अपहरणकर्ता चांदमल की पत्नी मंजू को फरार कर ले गया था। तीनों परिवार कृषि उपज मंडी में साथ मजदूरी करते थे। 

अपने बेटे-बेटी के साथ रखा अगवा बच्ची को 
अपहरणकर्ता, मासूम बच्ची को अपहरण कर अपने गांव जोरावरपुरा ले गया। जहां उसने अगवा बच्ची को 2 साल की बच्ची और 6 साल के बच्चे के साथ रखा था। उधर, अपहरण के बाद पुलिस सकते में थी कि बच्ची के साथ कोई अनहोनी न हो जाये। पुलिस ने बच्ची को सकुशल दस्तयाब करने के बाद ही राहत की सांस ली। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर