14 दिन न्यायिक हिरासत में रहेंगे कन्हैया के हत्यारे, कोर्ट पहुंचे आरोपी

 


उदयपुर । धानमंडी इलाके में हुई कन्हैया लाल साहू की हत्या के मामले में गिरफ्तार दोनों आतंकियों को गुरुवार को कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें 14 दिन के लिए न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया। शाम 5:50 पर दोनों आरोपियों को बख्तरबंद गाड़ी से जिला न्यायालय में लाया गया। दोनों आरोपियों की करीब 45 मिनट तक सुनवाई हुई। आरोपियों को चलने में परेशानी थी इसलिए पुलिसकर्मी उन्हें हाथों पर उठाकर कोर्ट में जज के सामने ले गए। सुनवाई के दौरान सबसे पहले जज ने आरोपियों से उनका नाम पूछा। इसके बाद उन्होंने पांव से नहीं चल पाने का कारण पूछा तो आरोपियों ने कहा कि हत्या के बाद जब भाग रहे थे तो पांव में चोट लग गई। पुलिस के पकड़ने से पहले से पांव में चोट थी।

 एसआईटी टीम के साथ एएसपी अनंत कुमार के नेतृत्व में टीम आरोपी को लेकर डिस्ट्रिक्ट कोर्ट पहुंची। सेशन न्यायधीश से दोनों आरोपियों को पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजे जाने का निवेदन किया। एएसपी अनन्त कुमार ने करीब 40 मिनट में पूरे घटनाक्रम और पुलिस, SIT द्वारा की जा रही जांच के बारे में बताया। APP कपिल टोटावत ने बताया कि दोनों आरोपियों को 14 दिन की न्याययिक अभिरक्षा में भेजा। वो 13 जुलाई तक उदयपुर की सेंट्रल जेल में रहेंगे। इससे पहले NIA या कोई भी दूसरी एजेंसी वापस आरोपियों को कोर्ट पेश कर सकती है।

 बार एसोसिएशन नहीं करेगा आरोपियों की पैरवी

आरोपियों को कोर्ट में पेश किए जाने की जानकारी मिलते ही दोपहर 4 बजे से वकील कोर्ट में जमा हो गए। पुलिस का अतिरिक्त जाब्ता भी लगाया गया था। आरोपियों की बस आते देखते ही वकीलों ने नारेबाजी शुरू कर दी। वंदेमातरम और भारत माता के जयकारे हुए आरोपियों को फांसी देने की मांग हुई। इससे पहले बार एसोसिएशन द्वारा किसी भी वकील द्वारा पैरवी नहीं करने का निर्णय लिया गया था। कोर्ट से जाते हुए आरोपियों की बस पर वकीलों ने मुक्के भी मारे। पुलिस लगातार आरोपियों को कड़ी मशक्कत के बाद बस से कोर्ट में ले जा पाई। पुलिस और वकीलों के बीच 5 बार धक्का मुक्की की नौबत भी आई।

अलग-अलग थानों में रखा गया 

पुलिस ने आतंकियों को कोर्ट में पेश करने से पहले तीन दिन अलग-अलग थानों में रखा। पुलिस ने आतंकियों को जिस दिन गिरफ्तार किया उस दिन भीम थाना इलाके में रखा गया। उसके अगले दिन चारभुजा थाने में रखा गया। वहीं एक दिन पहले देलवाड़ा थाने रखा गया। उदयपुर में आक्रोश की संभावना के चलते पुलिस अपराधियों को उदयपुर नहीं लाई।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

VIDEO आसींद में युवक से मारपीट, तोड़फोड़, आगजनी का प्रयास, बाजार बंद, दो के खिलाफ रेप का मामला दर्ज

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

पुलिस के साये में रहेगा विशाल,दो हथियारबंद जवान करेंगे सुरक्षा