भोपाल में फटे बादल:.घर-मंदिर-सड़क बाजार सब पानी-पानी

 


भोपाल. मध्य प्रदेश में मूसलाधार बारिश का दौर जारी है। वहीं राजधानी भोपाल में पिछले दो दिन से इस कदर पानी बरस रहा है कि लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बीते 48 घंटों में भोपाल में 8 इंच पानी गिर चुका है। शनिवार देर रात से हो रही बारिश के चलते घर-मंदिर, दुकानें और सड़के पूरी तरह से पानी-पानी हो चुके हैं। शहर की करीब 25 से ज्यादा कॉलोनियों में घुटनों से ऊपर पानी भर चुका है। तो कई निचली इलाकों में बनी बस्तियों पानी घुसने की वजह से लोगों का लाखों का नुकसान भी हो गया। आलम 17 साल पहले 2006 में आई बाढ़ जैसे हो गए हैं।

 देखिए लोगों को याद आ गया वो 17 साल पुराना भयानक मंजर...

बारिश की कहर की यह तस्वीर राजधानी भोपाल के लालघाटी इलाकी है, जहां निचली इलाकों में बने घरों में पानी भर गया है। आप देख सकते हैं कि लोग किस तरह से मोटर लगाकर पानी को बाहर निकालने की कोशिश में जुटे हुए हैं। वहीं कईयों की पूरी गृहस्थी का सामान पूरी तरह से बर्बाद हो चुका है। लोगों को रातभर जागकर काटनी पड़ी।

भोपाल में फिलहाल तेज बारिश का दौर जारी है। बाजार से लेकर रेलवे स्टेशन के कई ​प्लेटफार्म और पेट्रोल पंप में पानी भरने से पेट्रोल पंप बंद करना पड़ा है। मौसम विभाग के मुताबिक यह बारिश इस सीजन की सबसे तेज बारिश है। बताया जा रहा है कि पिछले 17 साल में ऐसा पहली बार हुआ, जब जुलाई में दो बार यानी दो दिन 4.5 इंच से ज्यादा बारिश हुई है। 

बता दें कि प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश कहर बरपा रही है। पूरे प्रदेश में तेज बारिश के चलते कई नेशनल और स्टेट हाइवे बंद हो गए हैं। एक-दूसरी जगह जाने का संपर्क टूट चुका है। नर्मदा के जलस्तर में भी दो से ढाई फीट बढ़ गया है तो वहीं  छोटी नदियां और नाले उफान पर हैं। वहीं सागर में आकाशीय बिजली गिरने से तीन, तो भिंड में एक बच्चे की मौत हो गई है।
 

भोपाल में बीते 2 हो रही बारिश अब मुसीबत बन गया है। शहर की सड़कें और गलियां लबालब हो गईं। पानी घरों में घुसने लगा है। हालत यह हैं कि बीती रात लोगों को जागकर गुजारनी पड़ी।सबसे ज्यादा खराब हालत अशोका गार्डन, करोंद, लालघाटी, बैरागढ़, निशातपुरा, गौतम नगर, शाहजहांनाबाद, मंगलवारा, इब्राहिमपुरा, बैरसिया रोड, छोला रोड, नादरा बस स्टैंड, सेकंड स्टाप, तुलसी नगर, होशंगाबाद रोड, कोटरा समेत कई इलाकों में जल भराव हुआ। 

बारिश ने सबसे बुरा हाल भोपाल के पुराने शहर का कर रखा है। यहां करीब करीब हर घर में पानी भर गया है। वहीं पुराने कबाड़ खाने के पास अहल ए अदीस कॉलोनी में 300 घरों में घुटनों-घुटनों तक पानी भर गया। सैंकड़ों लोगों पूरी रात घर  से पानी निकालने में जुटे रहे। वहीं यहां के निवासी लतीफ खान ने बताया कि इस पानी ने साल 2006 की याद दिला दी। अगर  एक दो दिन हालात नहीं सुधरे तो शहर में बाढ़ आ जाएगी। हमारे घरों में तीन से चार फीट पानी भरा है। लोगों को समझ नहीं आ रहा है कि क्या करें क्या ना करें।

मौसम विभाग के अनुसार अभी जुलाई में और ज्यादा बारिश होगी। ओडिशा के ऊपर चक्रवाती घेरा बनने के चलते 10 जुलाई से पूर्वी मध्य प्रदेश भारी बारिश का दौर शुरू होगा, जो 17 जुलाई तक जारी रह सकता है। जिसके चलते भोपाल, जबलपुर, शहडोल, भोपाल और नर्मदापुरम संभाग में भारी बारिश होगी।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस