तत्कालीन कनिष्ठ लेखाकार को एसीबी ने किया गिरफ्तार

 


 भीलवाड़ा/ कोटा बीएचएन।  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो स्पेशल यूनिट, कोटा ने झालावाड़ कोष कार्यालय के तत्कालीन कनिष्ठ लेखाकार रविकुमार गुर्जर को अनुसंधान के बाद गिरफ्तार कर लिया।  
एसीबी चौकी कोटा शहर व एसीबी स्पेशल यूनिट कोटा के प्रभारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय स्वर्णकार  ने बीएचएन को बताया कि 19 अक्टूबर 2020 को परिवादी   ईश्वर सिंह ने एसीबी0 चौकी कोटा देहात में प्रार्थना पत्र पेश किया कि उसकी फर्म कालिका स्टोन एवं कन्ट्रक्शन कम्पनी को राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा परियोजना में जीएसएस सलोतिया में बिल्डिंग निर्माण कार्य लागत 37.44,298 /- का वर्क ऑर्डर दिया था। उक्त निर्माण को परिवादी द्वारा 25 जून 2019 को पूर्ण कर शाला विकास एवं प्रबन्धन समिति को सम्बन्धित इन्जिनियर द्वारा हैण्डओवर कर दिया। परिवादी के बिल्डिंग निर्माण कार्य के शेष बिल पास करवाने के लिए परिवादी शिक्षा विभाग झालावाड के एडीपीसी रंगलाल मीणा व महेन्द्र मीणा सहायक लेखाधिकारी से मिला तो दोनों अधिकारियों ने परिवादी के बिल पास करने की एवज में बिल की राशि का 2 प्रतिशत 44,000/- रूपये रिश्वत की मांग कर  वरिष्ठ सहायक दीपक वर्मा से बात करने के लिए कहा। जिस पर गोपनीय सत्यापन करवाया गया जिसमें   तत्कालीन जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) जिला झालावाड  रंगलाल मीणा व  तत्कालीन सहायक लेखाधिकारी  महेन्द्र मीणा द्वारा परिवादी के शेष रहे बिलों को पास करवाने की एवज में 2 प्रतिशत के हिसाब से 44,000 /- रूपये रिश्वत की मांग की गई तथा रिश्वत राशि दीपक वर्मा को देने केलिए कहा गया। आरोपी दीपक वर्मा के कहने पर परिवादी ट्रेजरी झालावाड जाकर आरोपी रवि कुमार गुर्जर तत्कालीन कनिष्ठ लेखाकार कोष कार्यालय झालावाड से मिला तो रवि कुमार गुर्जर द्वारा परिवादी ईश्वर सिंह के बिल के टोकन जारी करने की एवज में परिवादी से 500/- रूपये रिश्वत राशि वक्त सत्यापन प्राप्त की गई। जिस पर  19 नवंबर 2020 को दौराने ट्रेप कार्यवाही आरोपी  दीपक वर्मा को परिवादी  ईश्वर सिहं से 40,000/- रूपये रिश्वत राशि प्राप्त करते हुये रगें हाथ गिरफ्तार किया गया। आरोपी दीपक वर्मा से उक्त रिश्वत राशि प्राप्त करने बाबत पूछा गया तो उसने यह रिश्वत राशि रंगलाल मीणा व महेन्द्र मीणा के कहेनुसार लेना बताया। उक्त कृत्य की पुष्टि हेतु आरोपी दीपक वर्मा के मोबाईल से श्री रंगलाल मीणा व महेन्द्र मीणा से उनके मोबाईल पर वार्ता करवाई गई। जिसमें दोनो आरोपीगण द्वारा रिश्वत राशि प्राप्त करने केलिए अपनी-अपनी सहमति व्यक्त की।

उक्त कार्यवाही पर आरोपीगणों के विरूद्ध मुख्यालय एसीबी जयपुर पर प्रकरण संख्या 291 / 20 पंजीबद्ध किया गया। उक्त प्रकरण का अनुसंधान  पुलिस निरीक्षक स्पेशल यूनिट कोटा  रमेश चन्द आर्य द्वारा किया गया। अनुसंधान से आरोपी रंगलाल मीणा तत्कालीन जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) जिला झालावाड व दीपक वर्मा तत्कालीन वरिष्ठ सहायक कार्यालय जिला परियोजना समन्वयक जिला झालावाड के विरूद्ध जुर्म प्रमाणित पाया जाने पर पूर्व में  न्यायालय भ्र0नि0अधिनियम कोटा में  16 जून 2021 को चालान पेश किया जा चुका है। आरोपीगण महेन्द्र मीणा व रवि कुमार गुर्जर के विरूद्ध अनुसंधान लम्बित रखा गया था। बाद अनुसंधान आरोपी महेन्द्र मीणा को   13 जून 2022 को गिरफ्तार कर  न्यायालय में पेश किया गया। शेष आरोपी श्री रवि कुमार गुर्जर तत्कालीन कनिष्ठ लेखाकार कोष कार्यालय झालावाड को बाद अनुसंधान  रमेश चन्द आर्य पुलिस निरीक्षक द्वारा  25 जुलाई 2022 को गिरफ्तार कर  न्यायालय भ्र0नि0अधिनियम कोटा में पेश किया गया। जिसे  न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया आरोपीगण महेन्द्र मीणा व रवि गुर्जर के विरूद्ध शीघ्र चालान  न्यायालय में पेश किया जायेेगा।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

VIDEO आसींद में युवक से मारपीट, तोड़फोड़, आगजनी का प्रयास, बाजार बंद, दो के खिलाफ रेप का मामला दर्ज

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

पुलिस के साये में रहेगा विशाल,दो हथियारबंद जवान करेंगे सुरक्षा