कन्हैयालाल हत्याकांड के मुख्य चश्मदीद राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज, गहलोत ने पूछी तबियत

 

उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड के मुख्य गवाह राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज हो गया है। राजकुमार का उदयपुर के एमबी हॉस्पिटल में इलाज जारी है। स्थिति खराब होने पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आरएनटी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल लाखन पोसवाल और उदयपुर जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा से फोन पर बातकर पूरे मामले की जानकारी ली है। सीएम गहलोत के निर्देश के बाद SMS मेडिकल कॉलेज से न्यूरो सर्जरी विभाग के चिकित्सकों की टीम को ग्रीन कॉरिडोर तैयार करवाकर उदयपुर के लिए रवाना किया गया है।

बता दें, कन्हैयालाल हत्याकांड के मामले में राजकुमार शर्मा मुख्य गवाह है। राजकुमार को बीते एक अक्टूबर को ब्रेन हेमरेज हुआ था, जिसके बाद उनके परिवार के लोग एमबी अस्पताल लेकर पहुंचे थे। फिलहाल, राजकुमार शर्मा की हालत नाजुक बनी हुई है।जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल की टीम में न्यूरो सर्जन मनीष अग्रवाल और रशिम कटारिया शामिल हैं, जो उदयपुर पहुंचने के बाद राजकुमार शर्मा की स्थिति को लेकर एक रिपोर्ट पेश करेंगी। टीम जल्द उदयपुर पहुंचे और रास्ते में कोई दिक्कत न हो इसलिए जयपुर से उदयपुर तक एक ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया है।


सवाई मानसिंह अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर अचल शर्मा का कहना है, हमें सरकार की ओर से निर्देश प्राप्त हुए थे जिसके बाद सवाई मानसिंह अस्पताल के दो वरिष्ठ न्यूरो चिकित्सकों को उदयपुर के लिए रवाना किया गया है। ताकि वे मरीज की स्थिति के बारे में पूरी जानकारी दे सकें। यदि मरीज को उदयपुर से जयपुर शिफ्ट किया जाना होगा तो इसकी भी तैयारी कर ली गई है।

घटना के बाद से सदमे में था राजकुमार
कन्हैयालाल हत्याकांड के बाद से ही टेलर राजकुमार शर्मा सदमें में था। कन्हैयालाल पर हमले के वक्त वो खुद दुकान में मौजूद था। हमले में उसके भी हल्की खरोंच आई थी। लेकिन काम धंधा खत्म होने से वो परेशान था।विधायकों ने करवाई थी मदद
मावली विधायक धर्मनारायण जोशी और शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया ने राजकुमार शर्मा को 25-25 हजार रुपये की मदद करवाई थी। घर में एक महीने का राशन डलवाया था। राजकुमार शर्मा इस पूरे मामले में चश्मदीद है। इसके अलावा उसका साथ ईश्वर गौड़ भी जो हमले में घायल हो गया था।

गौरतलब है, इसी साल 28 जून को मुस्लिम कट्टरपंथी रियाज मोहम्मद अत्तारी और मोहम्मद गौस ने टेलर कन्हैयालाल की जघन्य हत्या कर दी थी। बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नुपूर शर्मा द्वारा पैगंबर पर की गई टिप्पणी का समर्थन करने के विरोध में कन्हैयालाल की हत्या की गई थी। मामले की जांच कर रही एनआईए ने अब तक नौ लोगों को गिरफ्तार किया है, जो न्यायिक अभिरक्षा में है। राजकुमार शर्मा भी इस मामले में चश्मदीद गवाह है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना