बाल वाहिनियों को जीपीएस से कनेक्ट करना होगा, नॉर्म्स से अधिक बच्चों को नहीं बैठाया जा सकेगा

 

बीकानेर

अब  बाल वाहिनी पर ऑन स्कूल ड्यूटी के साथ-साथ ऑटोरिक्शा, मैजिक, बस, वेन आदि जो बाल वाहिनी के रूप में काम कर रही है, उन पर चालक का नाम पता और चाइल्ड हल्पलाइन (1098) एवं पुलिस हेल्पलाइन नंबर (100) अनिवार्य रूप से लिखना होगा। वाहनों में फर्स्ट एंड बॉक्स रखना होगा। स्कूल संचालकों को बाल वाहिनियों को जीपीएस से कनेक्ट करना होगा और मॉनिटरिंग करनी होगी।बाल वाहिनी में नॉर्म्स से अधिक बच्चों को नहीं बैठाया जा सकेगा। क्षमता से अधिक बाल वाहिनी में बच्चे मिले तो उसे सीज किया जाएगा। यह निर्णय रविवार को एसपी मेडिकल कॉलेज सभागार में बाल वाहिनी योजना के प्रभावी क्रियान्वयन बैठक में लिया गया। संभागीय आयुक्त डॉ. नीरज के पवन ने अध्यक्षता करते हुए कहा कि हरेक सरकारी और निजी स्कूल को बाल वाहिनी के नियमों की शत-प्रतिशत पालना करनी होगी। बच्चों का सुरक्षित आवागमन प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। बाल वाहिनी के समस्त नियमों की पालना कराई जाएगी।

होगी चालक के खिलाफ  सख्त कार्रवाई

संभागीय आयुक्त ने कहा कि अनिफिट वाहन को बाल-वाहिनी के रूप में उपयोग नहीं किया जाए। प्रशासन की टीम बाल वाहिनी की फिजिकल जांच करेंगी। कोई भी वाहन चालक नशा करके बाल वाहिनी चलाता हुआ पाया गया तो स्कूल प्रबंधक एवं चालक के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिस स्थान से बच्चों को बिठाया और उतारा जाता है, वहां स्कूल का प्रतिनिधि हो, वहां पर सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाए। जिले का प्रत्येक स्कूल प्रबंधक यातायात संयोजक की नियुक्ति कर सूची उपलब्ध करवाए। यातायात संयोजकों को प्रशिक्षित कराया जाएगा।

 

यह भी दिए निर्देश

- स्कूलों में 16 वर्ष से कम आयु का कोई भी बालक मोटराइज्ड दुपहिया वाहन लेकर नहीं आए।

----/--

गांव ढाणी देश दुनिया कारोबार भविष्यफल और धर्म की ताजा खबरें पढ़ें या फिर. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए 

भीलवाड़ा हलचल न्यूज़ ऐप

--//   

- 16 से 18 वर्ष तक के बच्चों को गीयरलेस दुपहिया वाहन चलाने की अनुमति- 18 वर्ष से अधिक आयु का विद्यार्थी गियर युक्त दुपहिया वाहन लेकर आए।

 - कोई भी विधार्थी बिना हेलमेट नहीं आए, यह भी सुनिश्चित किया जाए।- परिवहन विभाग, जिला प्रशासन और यातायात विभाग इन सभी नॉर्म्स की समय-समय पर मॉनिटरिंग करें

यह उपिस्थत रहे अधिकारीबैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर (नगर) पंकज शर्मा, अतिरिक्त प्रादेशिक परिवहन अधिकारी जुगल किशोर माथुर, जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) सुरेंद्र सिंह भाटी, वृत्ताधिकारी (यातायात) अजय सिंह, यातायात निरीक्षक रमेश सर्वटा, हेमंत किराडू, युधिष्ठिर सिंह भाटी, गिरिराज खेरीवाल सहित विभिन्न स्कूलों एवं वाहन चालक संगठनों के प्रतिनिधि, अभिभावक और विभागीय अधिकारी उपिस्थत थे।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार