आरोपित की करतूत पर परिवार शर्मिंदा, कहा-पता होता तो उसे ही ट्रैक से बांध देता

 


उदयपुर,  : रेलवे ब्रिज विस्फोट को लेकर पकड़े गए आरोपित धूल चंद मीणा की करतूत पर पिता और पूरा परिवार शर्मिंदा है। पिता का कहना है कि यदि उन्हें थोड़ी भी भनक होती कि उनका बेटा ऐसा करने जा रहा है तो उसे ही रेल की पटरियों पर बांधकर आ जाता। उन्होंने कहा कि वह उसे बचाने के लिए ना तो वकील करेंगे और ना ही परिवार के किसी सदस्य को वकील करने देंगे। उसे अपने कृत्य की कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।

  धूल चंद के पिता ने कहा, पागलों जैसी हरकत करता है बेटा

आरोपित धूल चंद के पिता सबजी मीणा का कहना है कि उनके बेटे ने इतनी बड़ी साजिश रची, उन्हें एकबारगी विश्वास नहीं हुआ। वह पागलों जैसी हरकत करता रहता है, लेकिन इतना बडा कांड करने जा रहा था, जो उनके लिए शर्मनाक है। उनके घर जब पहली बार पुलिस आई तो तब भी उन्हें भनक तक नहीं लगी। उसने यह महसूस नहीं होने दिया कि उसी ने यह कांड किया। यदि कोई बड़ी घटना हो जाती तो वह समाज में मुंह दिखाने लायक नहीं रहते। बदसलूक व्यवहार के चलते उनकी बेटे से एक साल से बोल-चाल बंद है। उन्होंने कहा कि दो-तीन साल पहले वह पागलों जैसी हरकत करता हुआ गांव में घूमता रहता था। तब उसके उपचार के लिए देवरा-देवरा यानी मंदिरों में धोक लगाने ले गए थे। उसके पागलपन और जिद्दी स्वभाव की वजह से वह उससे बात नहीं करते।

 चिंता केवल उसकी पत्नी और बच्चों की

धूलचंद के पिता सबजी का कहना है कि उन्हें धूलचंद की चिंता नहीं। दोषी को सजा मिलनी ही चाहिए। उन्हें उसकी पत्नी तथा तीन बच्चों की चिंता है। जिनका कोई दोष नहीं। उसकी सजा का प्रभाव उन पर पड़ेगा। जब तक जीवित रहूंगा, उसकी पत्नी और पोतों की देखभाल करूंगा। बाद का उनका भाग्य।

जमीन रेलवे ने अधिग्रहित नहीं की

पिता ने यह भी बताया कि उनकी जमीन रेलवे ने अधिग्रहित नहीं की। उनकी जमीन कई साल पहले हिंदुस्तान जिंक ने अधिग्रहित की थी। जिसका मुआवजा उन्हें मिल चुका था। अब हिंदुस्तान जिंक से रेलवे ने जमीन अधिग्रहित की है। वह कभी अधिग्रहित जमीन के मुआवजे की शिकायत के लिए ना तो हिंदुस्तान जिंक गए और ना ही रेलवे अधिकारियों के पास। उन्हें नहीं पता कि उसने कब अधिग्रहित जमीन को लेकर कोई दुश्मनी पैदा कर ली।  

 

मुख्य आरोपित को पकड़ने वाली टीम होगी सम्मानित

उदयपुर जिले के जावर माइंस थाना क्षेत्र में 12 नवंबर की शाम ओडा गांव के निकट बने रेलवे ओवर ब्रिज में हुए ब्लास्ट की घटना में शामिल मुख्य अभियुक्त धूल सिंह को पकड़ने में मुख्य भूमिका निभाने वाले कांस्टेबल पुष्पेंद्र को गैलेंट्री प्रमोशन व टीम के अन्य अधिकारियों व पुलिस कर्मियों को डीजीपी डिस्क व पारितोषिक प्रदान किया जाएगा।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस