छात्रा खुदकुशी मामले में नया मोड़, दो शिक्षकों, व्याख्याता, व प्रधानाचार्य सहित सात लोगों पर केस दर्ज

 


  हमीरगढ़ अलाउद्दीन। 
पांच माह पहले एक छात्रा के सुसाइड करने के मामले में अब नया मोड़ आ गया है। मृतका के पिता ने सरकारी स्कूल के प्रधानाचार्य सहित चार शिक्षकों व तीन अन्य लोगों के खिलाफ छात्रा को खुदकुशी के लिए मजबूर करने का मामला हमीरगढ़ थाने में दर्ज करवाया है। पिता का आरोप है कि उसकी बेटी का नाम शिक्षक हेमराज के साथ जोड़कर उसे बदनाम किया गया, जिससे छात्रा तनाव में थी और उसने सभी अधिकारियों को लिखित में शिकायत की, लेकिन लोकल दबंगों की वजह से आरोपितों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। ऐसे में छात्रा ने हताश होकर फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला खत्म कर ली। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी। 
हमीरगढ़ थाना प्रभारी हनुमानाराम ने हलचल को बताया कि एक व्यक्ति ने अदालत के इस्तगासे के जरिये रिपोर्ट दर्ज करवाई है। इस रिपोर्ट में परिवादी ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय टहुंका के व्याख्याता रतनलाल बलाई, मोहन लाल रैगर अध्यापक, कमलेश चंदेल अध्यापक, मुरली मनोहर नामा प्रधानाचार्य के साथ ही पुरोहितों का खेड़ा के श्यामलाल कुम्हार, उदयराम गाडरी व बागौर निवासी सांवरमल जाट को आरोपित बनाया है। 
परिवादी का आरोप है कि उसकी बेटी 11 वीं कक्षा में पढ़ रही थी। उस समय चारों आरोपित अध्यापन कार्य कराते थे। इसी स्कूल में शिक्षक हेमराज मीणा दोसा, संजीव कुमार चूरू व विजय सिंह हनुमानगढ़ के होने से इनसे नफ रत करते थे तथा अकारण ही लड़ाई झगड़ा कर उनको परेशान करते थे।
परिवादी ने रिपोर्ट में बताया कि उसकी पुत्री दस मार्च 21 को अपने ससुराल में थी। तभी इन नामजद सभी सात आरोपितों ने षड्यंत्र रचकर परिवादी की पुत्री का नाम अध्यापक हेमराज मीणा के साथ जोड़ा और दुष्प्रचार कर परिवादी की पुत्री व अध्यापक को बदनाम करने की नियत से छात्रा के नाम से प्रधानाचार्य के समक्ष फर्जी शिकायत कर छात्रा को बदनाम किया। 
छात्रा के अपने ससुराल से आने के बाद सहपाठियों ने उसे बताया कि आरोपितों ने उसका नाम अध्यापक हेमराज के साथ जोड़कर गुरु शिष्या के रिश्ते को बदनाम किया है। झूंठी शिकायत कर अध्यापक हेमराज को एपीओ करवा दिया। श्यामलाल कुम्हार, उदयराम गाडरी व सांवरमल जाट व उक्त आरोपितों ने षड्यंत्र रचकर छात्रा को बदनाम किया।  
परिवादी ने आरोप लगाया कि व्याख्याता रतनलाल बलाई ने छात्रा से मोबाइल पर बात कर हेमराज को बदनाम करने के लिए दबाव बनाया। उक्त बातचीत की रिकॉर्डिंग कर व्याख्याता रतन लाल ने सोशल मीडिया पर वायरल कर दी। इस घटना की जानकारी के बाद समाज ने 12 जुलाई को प्रधानाचार्य को रिपोर्ट पेश की तथा 27 जुलाई 21 को जरिये मेल किया कि छात्रा ने हेमराज अध्यापक के खिलाफ कोई लिखित व मौखिक शिकायत नहीं की। फिर भी छात्रा का नाम हेमराज सर के साथ जोड़कर बदनाम किया गया। जिससे छात्रा मानसिक रूप से तनाव में थी। 
छात्रा ने सभी अधिकारियों को लिखित लिखित प्रार्थना-पत्र पेश किये, लेकिन लोकल दबंगों की वजह से आरोपितों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। ऐसे में 5 अक्टूबर 21 को छात्रा ने एक शपथ पत्र जांच अधिकारी को सुपुर्द किया। इसके बाद 13 नवंबर 21 को आरोपितों के द्वारा दिये गये मानसिक तनाव के दुष्प्रेरण से छात्रा ने हताश होकर फांसी लगा कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।  पुलिस ने छात्रा के पिता की रिपोर्ट पर प्रधानाचार्य, व्याख्याता, दो शिक्षकों सहित सभी सात लोगों के खिलाफ छात्रा को खुदकुशी के लिए मजबूर करने के आरोप में मामला दर्ज कर लिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि छात्रा के खुदकुशी करने के बाद दर्ज मर्ग की जांच एसडीएम कर रहे हैं। 
 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर