यूक्रेन में मची है खतरनाक तबाही ,तस्वीरे बता रही है हालात

 


 

 नई उपग्रह तस्वीरों से इरपिन और मरकीव समेत तमाम शहरों में रूसी  हमलों से हुई जबरदस्त तबाही के निशान स्पष्ट दिख रहे हैं। घरों, स्कूलों, दफ्तरों और शॉपिंग मॉल को भारी नुकसान अंतरिक्ष से भी साफ नजर आ रहा है। सरकारी परिसर और अपार्टमेंट के बीच मध्य इरपिन में दो जगह आग दिखाई दे रही है। 
सीएनएन ने बताया कि तस्वीरें सैन्य हमलों और इरपिन नदी से बढ़ती बाढ़ दिखाती हैं। एक उपग्रह तस्वीर इरपिन नदी से बढ़ते बाढ़ के पानी को दिखाती है। यह स्पष्ट नहीं है कि इरपिन नदी बेसिन में बांध से बाढ़ कैसे आई। माना जा रहा है कि इस क्षेत्र में बाढ़ के लिए जानबूझकर बांध के द्वार खोले गए थे। सीएनएन के अनुसार, नीपर नदी के किनारे एक बांध इरपिन नदी बेसिन और उसकी सहायक नदियों में पानी भर रहा है।कीव में प्रवेश करने के लिए रूसी सैन्य काफिलों को इरपिन नदी पार करना जरूरी है और यूक्रेन इसी तरह रूसी सैनिकों को रोके हुए है। एक अन्य उपग्रह तस्वीर में मरकीव के एक स्कूल के पास इमारतों तथा एक झील के पास एक आवासीय क्षेत्र के बीच दो जगह आग की भीषण लपटें भी देखी जा सकती हैं। 

रूस के हमले में जलते अपार्टमेंट
तस्वीरों को देख साफ जाहिर हो रहा है कि रूस के हमले के बाद यूक्रेन में कितनी खतरनाक तबाही मची है। इसलिए अब यूक्रेन के ज्यादातर इलाके एकदम वीरान नजर आ रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि रूसी हमले के बाद अब लगभग 35 लाख यूक्रेनी लोग देश छोड़ चुके हैं।

यूक्रेन संकट

यूक्रेन संकट - फोटो : Social Media

हमलों से बचकर अलगाववादी कैंपों में भी पहुंच रहे लोग
दोनेस्क इलाके में रूस समर्थक अलगाववादियों द्वारा बनाए गए अस्थायी शरणार्थी कैंपों में भी मैरियूपोल निवासी पहुंच रहे हैं। बताया जा रहा है कि करीब पांच हजार लोग अपने बच्चों के साथ इन कैंपों का रुख कर चुके हैं। यूलिया ने बताया कि छह भवन बमबारी का निशाना बने। उनका परिवार सिर्फ 15 मिनट में भाग निकला और बेजिमेन में शरण ली।

  • ओल्हा निकितिन ने बताया कि गोलीबारी से उनके घर की खिड़कियों के कांच टूट गए थे। बिना बिजली के अपार्टमेंट का तापमान जमाव बिंदु से भी नीचे पहुंच गया था।

मैरियूपोल में आमने सामने की जंग
मैरियूपोल में भीषण लड़ाई के बीच लोग जान खतरे में डालकर बचकर भाग रहे हैं। लोगों ने बताया है कि गलियों में आमने-सामने लड़ाई चल रही है। शवों के बीच से रास्ता बनाकर निकलना पड़ रहा है।

  • अधिकारियों का कहना है बेतहाशा बमबारी में हजारों लोग फंसे रह गए हैं।
  • यूक्रेन ने रूस से अपील की है कि मैरियूपोल में मानवीय आधार पर नागरिकों के लिए सहायता पहुंचाने दे। शहर में खाना, दवाएं, बिजली, पानी समाप्त हो चुके हैं।

 

यूक्रेन संकट

महासभा में फिर यूक्रेन पर मतदान होगा
संयुक्त राष्ट्र महासभा में बुधवार को यूक्रेन मुद्दे पर लाए जा रहे एक प्रस्ताव पर मतदान होगा। यूक्रेन पर हमले के मुद्दे पर यह दूसरा प्रस्ताव है। संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष अब्दुल्ला शाहीद को महासभा की 11वीं आपात विशेष बैठक फिर बुलाने का अनुरोध मिला है। एजेंसी

मैरियूपोल तक मानवीय मदद पहुंचने दे रूस : यूक्रेन
यूक्रेन ने रूस से अपील की है कि मैरियूपोल शहर में मानवीय आधार पर नागरिकों के लिए सहायता पहुंचाने दे। इस शहर में खाना, दवाएं, बिजली, पानी सब समाप्त हो चुका है। स्थानीय अधिकारियों ने मैरियूपोल की तुलना ‘मृत शहर की राख’ से की है। करीब 4 लाख की आबादी का एक हिस्सा शहर से बाहर निकाला जा चुका है लेकिन अब भी बड़ी संख्या में नागरिक यहां फंसे हैं। रूस हमले के पहले दिन से इस बंदरगाह शहर पर कब्जे की कोशिश में लगा है क्योंकि इसके जरिये वह डोनबास इलाके से होते हुए क्रीमिया तक जमीनी रूप से पहुंच सकता है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर