भीलवाड़ा सहित विभिन्न जिलों में 100 से ज्यादा वारदात करने वाली गैंग पकड़ी, 2 महिलाओं सहित 8 गिरफ्तार


  पाली. भीलवाड़ा सहित राजस्थान, मध्यप्रदेश और गुजरात में  चोरियों का शतक लगा चुके गिरोह को पाली पुलिस ने गिरफ्त में लिया है। पकड़े गये आरोपितों में दो महिलायें व छह पुरुष शामिल हैं। वारदात में उपयोग लिया जा रहा बोलेरा वाहन भी पुलिस ने इनके कब्जे से जब्त किया। बदमाशों ने पूछताछ में यह खुलासा भी किया किउन्होंने ज्यादातर वारदातें मारवाड़ अंचल में की। कारण, मारवाड़ के  गहने-नगदी घरों में रखते हैं । वर्तमान में बदमाश रामदेवरा जातरूओं का भेष धर कर नकबजनी की वारदातों को अंजाम दे रहे थे।

पाली एसपी डॉ गगनदीप ने गैंग का खुलासा करते हुये कहा पाली जिले के जैतारण थाने क्षेत्र में 23 जुलाई को नकबजनी की वारदात हुई। इसे लेकर सीओ जैतारण सुखराम विश्नोई ने जैतारण सीआई दिनेश कुमावत, रास एसएचओ ओमप्रकाश कासनिया और साइबर सैल को लेकर एक टीम बनाई । क्योंकि इस गैंग के बदमाश वारदात के दौरान मोबाइल का उपयोग नहीं करते थे। ऐसे में हाइवे सहित घटना स्थल के आस-पास के 500 से ज्यादा सीसी टीवी फुटेज खंगाले। करीब एक माह की मेहनत के बाद इस गैंग का एक शातिर बदमाश नारायण कंजर हाथ लगा। उससे पूछताछ की तो उसने भीलवाड़ा, जैतारण सहित पाली, अजमेर, नागौर, जोधपुर, बाड़मेर, चित्तौडगढ़,  उदयपुर सहित, गुजरात, मध्यप्रदेश में 100 से ज्यादा नकबजनी की वारदातें करना कबूला। उसकी निशानदेही पर गैंग के अन्य सात आरोपियों को भी गिरफ्तार किया।

ये चढ़े पुलिस के हत्थे

भीलवाड़ा के पड़ौसी चित्तौडगढ़ जिले के बेगू थाने के रायता गांव निवासी    देवेन्द्र 24 पुत्र शिशुपाल कंजर,   राजकुमार उर्फ  राजू 20 पुत्र गोमाराम कंजर,  ईश्वर 22  पुत्र शांतिलाल कंजर, मुकेश 35 पुत्र शांतिलाल कंजर, मेगनियावास (बेगू) निवासी   अशोक 20  पुत्र नोपाराम कंजर, रायता, मोतीपुरा का झूपड़ा (पारसौली) चित्तौडगढ़ निवासी   नारायण 35  पुत्र रामचंद्र कंजर, विजयपुरा भीलवाड़ा हाल खडी मनासर नीमच (एमपी) निवासी नंदू 35 पत्नी राजन बाघडार और चित्तौडगढ़ जिले के रायता (बेगू) निवासी  राजकुमारी 20 पत्नी चन्द्रप्रकाश कंजर को गिरफ्तार किया।  

पुलिस की निगाह से यूं बचते थे बदमाश 

० वारदात के दौरान मोबाइल का उपयोग नहीं करते थे।
० महिलाओं को साथ रखते, जिससे लगे कि फैमीली है।
० वर्तमान में रामदेवरा जातरुओं की आड़ में निकलते, जहां रात रुकते वारदात कर आगे बढ़ जाते थे।
० ताले तोडऩे के औजार वाहन की सीट के नीचे छिपाकर रखते थे जिससे की तलाशी के दौरान आसानी से पकड़ में न आए।
० दिन में रैकी करते देर रात को देते थे वारदात को अंजाम, महिलाएं भी रहती थी वारदात में शामिल
एसपी की अपील 
मामले में एसपी डॉ गगनदीप सिंगला ने जिलेवासियों से अपील की कि वे ज्यादा नकदी-गहने घर में न रखे। क्योंकि नकबजनों की उन पर नजर रहती हैं। मारवाड़ क्षेत्र में ज्यादातर लोग घर में गहने-नगदी रखते है इसलिए इस गैंग ने राजस्थान में विशेषकर मारवाड़ क्षेत्र में ज्यादा नकबजनी की वारदातों को अंजाम दिया।

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना