डंडे लेकर सड़क पर उतरे लोगों ने नसीराबाद बंद कराया, हाईवे जाम

 


अजमेर.

13 साल के लड़के को बचाने के लिए टैंक में कूदे 4 युवकों की मौत का मामला गरमा गया है। समाज और परिवार का आरोप है कि पास में ही गैस प्लांट है, जिसकी वजह से इन युवकों की मौत हुई है। मुआवजे की मांग को लेकर रविवार शाम से ही धरना-प्रदर्शन का दौर जारी है। शव को भी नहीं उठाया गया है।

सोमवार दोपहर करीब एक बजे डंडे लेकर सड़क पर उतरे लोगों ने अजमेर का नसीराबाद बाजार बंद कराया। साथ ही, हाईवे जाम कर दिया है। इससे अजमेर, जयपुर, भीलवाड़ा व कोटा आने-जाने वालों का रास्ता ब्लॉक हो गया था। शाम करीब 5 बजे पांच-पांच लाख रुपए मुआवजे पर सहमति बनी। तब जाकर हाईवे का जाम खोला गया।

 पुलिस-प्रशासन ने समझाने की खूब कोशिश की, पर मुआवजे की मांग पर अड़े प्रदर्शनकारियों ने एक न सुनी। नसीराबाद विधायक रामस्वरूप लाम्बा भी मौके पर पहुंचे और मुआवजा देने की मांग की। सांसद भागीरथ चौधरी भी मौके पर ही हैं। देवसेना के जिलाध्यक्ष सांवरलाल गुर्जर ने कहा कि चारों मृतक परिवारों को दस-दस लाख रुपए जब तक नहीं दिए जाएंगे, जाम नहीं खोला जाएगा। शाम करीब 5 बजे मुआवजे पर सहमति बन गई। इसके बाद आंदोलन खत्म हो गया।

 अजमेर से नसीराबाद में एंट्री, नसीराबाद से कोटा चौराहा, नसीराबाद से दिलवाड़ी जयपुर चौराहे पर जाम लगाया गया है। पूरी तरह अजमेर, जयपुर, भीलवाड़ा व कोटा मार्ग पर चक्का जाम हो गया है। रोडवेज बसें व वाहन फंस गए हैं।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना