तिलस्वा में बड़ा हादसा टला,रामदेवरा जा रहे लोगो की बस नदी में उतरी, कोटा के 60 लोगो की बची जान

 


भीलवाड़ा (हलचल जिले के बिजोलिया थाना अंतर्गत तिलस्वां महादेव में कोटा के जातरुओं से भरी बस मंगलवार रात ऐरू नदी में गिर कर पलटने से बची। बस का अगला हिस्सा नदी में उतर गया । जिसका पता चलते ही यात्रियों में चीख पुकार मच गई। ग्रामीणों ने हिम्मत दिखाते हुए लोगो को बस से बाहर निकाले लिया। क्रेन की मदद से बस को भी रात में ही बाहर निकाला गया। बस में 60 दे ज्यादा लोग सवार थे जो रामदेवरा जाने के लिए निकले थे। सूत्रों के अनुसार मंगलवार देर रात तिलस्वां महादेव में मंदिर के सामने अनजाने चालक ने बस को ऐरू नदी में उतार दिया। चसलक बस को संभाले पाता तब तक बस नदी के घाट की दो तीन सीढि़यां नीचे उतर गई और बस का अगला हिस्सा पानी मे डूब गया। यह देख बस मे सवार महिलाओं की चीख पुकार मच गई। महिलाओं की चीख सुन आसपास से लोग दौड़ कर वहां पहुचे यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकालने का प्रयास शुरू किया कुछ ही देर में सभी यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। उसके बाद तीन क्रेनो की मदद से बस को नदी से बाहर निकाला गया। मौके से चालक भाग छूटा। गनीमत रही कि बस नदी में पलटी नहीं नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था यह जानकारी सामने आई है कि कोटा से 60 से ज्यादा महिला और पुरुष रामदेवरा दर्शनों के लिए निकले थे और रास्ते में तिलस्वा महादेव के दर्शन करने के लिए पहुंचे थे जहां यह हादसा हो गया।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा