नाबालिक के गर्भपात के आरोप में राजस्थान हॉस्पीटल का संचालक मांडल के डॉ अंसारी गिरफ्तार

 


भीलवाड़ा/चित्तौडग़ढ़।
बलात्कार के आरोपियों से मिलीभगत कर नाबालिग का गर्भपात करने के आरोप में कोतवाली पुलिस ने राजस्थान हॉस्पीटल चित्तौडग़ढ़ के संचालक व मांडल के रहने वाले डॉ. कामिल हुसैन को गिरफ्तार कर लिया। उसे पोक्सो न्यायालय प्रथम में पेश किया, जहां से न्यायिक अभिरक्षा में भिजवा दिया।
पुलिस के अनुसार १४ अप्रेल २०२२ को प्रार्थिया ने पुलिस अधीक्षक के समक्ष परिवाद पेश किया कि उसकी नाबालिग पुत्री को बनेड़ा निवासी व हाल मोहर मंगरी में रह रहे राजू पुत्र मोहम्मद शरीफ ने चाय में नशीली वस्तु पिला दी। इसके बाद पीडि़ता के साथ बलात्कार कर उसके फोटो खींच लिए। इसके बाद आरोपी फोटो वायरल करने की धमकी देकर पीडि़ता के साथ बलात्कार करता रहा। १५ मार्च २०२२ को प्रार्थिया अपनी बेटी को लेकर महिला चिकित्सक के पास गई। जहां उसे पीडि़ता की सोनोग्राफी करवाने की सलाह दी गई। पीडि़ता नाबालिग होने से सोनोग्राफी सेंटर पर सोनोग्राफी करने से इनकार कर दिया। इसके अगले दिन पीडि़ता को उसकी मां राजस्थान हॉस्पीटल ले गई, जहां उसे बताया गया कि उसकी पुत्री छह माह से गर्भवती है। पीडि़ता को लेकर उसकी मां घर लौट गई। इसके बाद आरोपी राजू पीडि़ता को धोखे में रखकर राजस्थान हॉस्पीटल लेकर गया और वहां डॉ. कामिल हुसैन से मिलीभगत कर गर्भपात करवा दिया। मामला गंभीर होने पर पुलिस अधीक्षक ने कोतवाली पुलिस को निर्देश दिए कि प्रकरण दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। कोतवाली पुलिस ने पोक्सो सहित विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज कर इस मामले में आरोपी राजू व उसकी भाभी सिमरन को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। शनिवार को पुलिस ने इस मामले में भीलवाड़ा जिले के माण्डल निवासी व हाल चित्तौडग़ढ़ में राजस्थान हॉस्पीटल का संचालन कर रहे डॉ कामिल हुसैन (४३) पुत्र सिराज मोहम्मद अंसारी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसे पोक्सो न्यायालय संख्या एक में पेश किया, जहां विशिष्ट लोक अभियोजक शोभालाल जाट के तर्कों से सहमत होकर पीठासीन अधिकारी ने आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में भिजवा दिया।
राजस्थान हॉस्पीटल का संचालक चिकित्सक गिरफ्तार, जेल भेजा।

 

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिये कटा हुआ हाथ जोड़ा