हत्या के मामले में 16 दिन बाद भी कार्रवाई न होने से ग्रामीणों का प्रदर्शन, डिप्टी को दिया ज्ञापन

 


शाहपुरा-मूलचन्द पेसवानी 
शाहपुरा पुलिस थाना क्षेत्र के ढाणी भवसागर निवासी प्रभु पिता बालू रेबारी की संदिग्ध हालत में हत्या किए जाने के मामले में 16 दिन बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होेने को लेकर उनके परिजनों व ग्राम वासियों ने आज पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया तथा पुलिस उपाधीक्षक को ज्ञापन देकर हत्या के मामले का खुलासा करने की मांग की है। 
मृतक प्रभु रेबारी के पुत्र मुकेश रेबारी,  पौत्र विनोद रेबारी की अगुवाई में ग्रामीणों ने दिए ज्ञापन में कहा है कि 21 अक्टूबर 22 को प्रभु रेबारी खेत पर जाने की कहकर घर से निकले थे। परंतु 2 दिन तक घर पर ना आने के कारण उन्होंने गुमशुदगी की रिपोर्ट भी थाने में दर्ज कराई। अचानक 23 अक्टूबर को उनके ही खेतों के पास एक पानी के नाले में प्रभु रेबारी का शव तैरता हुआ पाया गया। परिजन व ग्रामीण मौके पर इकट्ठा हुए तथा पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर शाहपुरा के जिला चिकित्सालय में पोस्टमार्टम करवाया। इसी दौरान परिवार जनों की ओर से पुलिस थाने में प्रभु रेबारी की हत्या किए जाने के संबंध में नामजद आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई। इन आरोपियों में कमल पुत्र शंभू रेबारी, मुकेश पुत्र भोमा रेबारी, हीरा पुत्र भोमा, भीमराज पुत्र शंभू रेबारी, शंभु पुत्र सौदान रेबारी, दूधा पुत्र सौदान रेबारी, बन्ना पुत्र सौदान रेबारी, भेरु पुत्र दूदा रेबारी को नामजद किया गया है। आज ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि आरोपियों के साथ जमीन के मामले को लेकर पिछले दो-तीन सालों से रंजिश चल रही थी। पहले भी जानलेवा हमला हो चुका है। जिसकी भी रिपोर्ट दर्ज करवाई गई परंतु शाहपुरा पुलिस ने इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की है।
आज पुलिस उपाधीक्षक को दिए गए ज्ञापन में 5 बिंदुओं पर जांच की मांग करते हुए हत्या का खुलासा करने की मांग की गई है। इसमें कहा गया है कि प्रभु रेबारी दोपहर 12 बजे को मोबाइल लेकर घर से निकले थे। जबकि मौके से कोई भी मोबाइल बरामद नहीं हुआ। उस मोबाइल की कॉल डिटेल व लोकेशन की जांच की जानी चाहिए। इसके अलावा गांव की तरफ से लेकर घटना स्थल तक की लोकेशन में मोबाइल की ट्रेकिंग की जाए ताकि हत्या का खुलासा हो सके। ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि नामजद आरोपियों के मोबाइलों से किन-किन लोगों की बात हुई है उनकी डिटेल निकाली जानी चाहिए। इसके अलावा 21 अक्टूबर दोपहर 12 बजे से देर रात तक शाहपुरा के गेट व अन्य प्रमुख स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज भी खंगाली जानी चाहिए। ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि प्रभु रेबारी के शव के पास से मिले कपड़ों व दस्तावेजों की जांच होनी चाहिए। 
पुलिस उप अधीक्षक को दिए गए ज्ञापन में ग्रामीण व परिजनों ने कहा है कि समय रहते पुलिस ने इमानदारी से अगर हत्या के प्रकरण की जांच नहीं की तो ग्रामीण आंदोलन कार्यवाही करेंगे। मृतक प्रभु रेबारी के पौत्र विनोद रेबारी ने बताया कि आज दिए गए ज्ञापन पर पुलिस ने ज्ञापन में दिए गए पांचों बिंदुओं पर कार्रवाई का आश्वासन दिया है तथा पुलिस उपाधीक्षक महावीर प्रसाद शर्मा ने आश्वस्त किया है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट तथा एफ एसएल की रिपोर्ट के आधार पर और मोबाइल लोकेशन ट्रेकिंग करवाकर शीघ्र ही मामले का खुलासा किया जाएगा। आज ज्ञापन देते समय कांग्रेस सेवा दल के अध्यक्ष जयंत जीनगर, एडवोकेट अक्षय रेबारी, जितेंद्र पाराशर, विनोद रायका, मुकेश रेबारी, भगवानलाल रेबारी, राकेश बंजारा, महावीर प्रसाद, शिवराज, चंद्रप्रकाश, रामकुमार, अनिल कुमार, शंकर गुर्जर सहित अन्य ग्रामीण मौजूद थे।
पुलिस उपाधीक्षक महावीर प्रसाद शर्मा ने कहा है कि पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है। सुराग मिलते ही मामले का खुलासा कर दिया जायेगा। उन्होंने ग्रामीणों से सहयोग करने को भी कहा है ताकि सुराग मिलने पर कार्रवाई को आगे बढ़ाया जाये।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

गंगरार कस्बे में कुए में मिली लाश की हत्या का खुलासा, प्रेमी से मिलकर बहिन ने करवाई थी भाई की हत्या,

डांग के हनुमान मंदि‍र के सरजूदास दुष्‍कर्म के आरोप में गि‍रफ्तार, खाये संदि‍ग्‍ध बीज, आईसीयू में भर्ती

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत