बेखौफ होकर थाने से महज 200 मीटर दूर खोद रहे शमशान

 


मंगरोप (मुकेश खटीक) दिनों दिन बजरी का बढ़ता उपभोग और उससे कमाए पैसो की खनक ने लोगों को अच्छे और बुरे में फर्क करना तक भुला दिया है।बजरी माफियाओं ने हिंदू श्मशान घाट तक को नहीं बख्शा है। गड़े हुए मासूम और जले हुए मुर्दों तक के कंकाल निकाल कर बजरी के साथ भरकर ले जा रहे हैं।गाँव में हिन्दू समाज के लिए शव जलाने के लिए एकमात्र शमशान है लेकिन इसपर भी बजरी माफिया अपना अधिकार जमाते हुए लगातार बजरी दोहन कर रहे है।जिससे निकट भविष्य में शमशान के लिए पर्याप्त जगह नहीं बचेगी जिससे काफी बड़ी समस्याएं उत्पन्न हो सकती है।कई बार ग्रामीण थाने में भी इस बात को लेकर सूचना दे चुके हैं।लेकिन अब तक भी शमशान से बजरी दोहन का सिलसिला जारी है।ग्रामीणों ने पुलिस पर शमशान खोद रहे माफियाओं पर अंकुश नहीं लगा पाने का आरोप लगाया है।लगातार ग्रामीणों के विरोध के बावजूद भी ये लोग बाज नहीं आ रहे है।ग्रामीणों ने मांग की है कि या तो शमशान में दाह संस्कार के लिए भूमि कहीं और आवंटित की जाए या फिर शमशान भूमि क्षेत्र में बजरी दोहन पर गंभीरता से अंकुश लगाया जाये।अन्यथा लोगों ने सड़को पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।  

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस