पुलिसकर्मियों को रोडवेज पास 200 रुपये में मिलेगा, आदेश जारी

 


राजस्थान में पुलिसकर्मियों को रोडवेज मासिक पास पूर्व की भांति 200 रुपये में ही मिलेगा। सीएम गहलोत द्वारा राजस्थान पुलिस कॉन्स्टेबल को रियायती दरों पर रोडवेज का मासिक पास उपलब्ध कराने की घोषणा के क्रम में गृह विभाग ने संबंधित आदेश जारी कर कॉन्स्टेबल से पुलिस निरीक्षक स्तर के कार्मिकों के लिए अंशदान पूर्व की भांति प्रतिमाह 200 रु निर्धारित किया है।  निर्धारित 300  रुपये में से शेष 100 रु की राशि का अंशदान राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। 

परिचय पत्र के आधार पर मिलेगी यह सुविधा

महानिदेशक पुलिस उमेश मिश्रा ने बताया कि पुलिस कर्मियों के व्यापक कल्याण के उद्देश्य से पुलिस मुख्यालय के अनुरोध को स्वीकार करते हुए पुलिस कर्मियों का अंशदान 300 रु से कम करके 200 रु ही निर्धारित किया गया है। उल्लेखनीय है कि रोडवेज प्रशासन ने अंशदान राशि को बढ़ाकर 500 रु प्रतिमाह की एवं इसमें से 300 रु का अंशदान पुलिस कर्मी से एवं 200 रु का अंशदान राज्य सरकार से पुनर्भरण करने का प्रावधान किया गया था। मिश्रा ने बताया कि पुलिसकर्मियों को यह सुविधा आरएफआईंडी व परिचय पत्र के आधार पर मिलेगी।

पुलिसकर्मी कर रहे थे लंबे समय से मांग 

बता दें, राजस्थान के पुलिसकर्मी लंबे समय से इस तरह की सुविधा देने की मांग कर रहे थे। सीएम गहलोत ने पुलिस कर्मियों की मांग को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया है। पुलिस कर्मियों को मात्र 200 रुपये में सरकारी रोडवेज बसों में पास की सुविधा मिलेगी। नवनियुक्त डीजीपी उमेश मिश्रा ने आधिकारिक आदेश जारी कर दिए है। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस