लोककवि मोहन मण्डेला स्मृति 25 वां सम्मान समारोह एवं कवि सम्मेलन अब 3 दिसम्बर को होगा

 

शाहपुरा-मूलचन्द पेसवानी 
साहित्य सृजन कला संगम संस्थान के संस्थापक एवं राजस्थान के जाने माने लोककवि मोहन मण्डेला की स्मृति में प्रतिवर्ष आयोजित होने वाला देश का प्रतिष्ठित लोककवि श्री मोहन मण्डेला स्मृति सम्मान समारोह एवं अखिल भारतीय कवि सम्मेलन इस वर्ष 3 दिसम्बर 2022 शनिवार को त्रिमूर्ति चैराहे पर सार्वजनिक स्तर पर आयोजित किया जाएगा। समारोह में देश के जाने माने साहित्यकार, अनुवादक एवं जवाहरलाल नेहरू राजस्थान बाल साहित्य अकादमी के अध्यक्ष इकराम राजस्थानी को इस वर्ष का लोककवि मोहन मण्डेला स्मृति सम्मान देकर सम्मानित किया जायेगा।
संस्थान के पदाधिकारियों एवं सदस्यों की इस संबंध में आवश्यक बैठक हुई जिसमें यह निर्णय लिया गया। पूर्व में यह कार्यक्रम 1 दिसम्बर को बोर्डिंग हाउस में आयोजित किया जाना था किंतु अपरिहार्य कारणों से स्थान एवं तिथि में जन सुविधाओं को देखते हुए परिवर्तन करने का निर्णय किया गया है। संस्थान के सहसचिव दिनेश बंटी ने बताया कि ‘साहित्य सृजन कला संगम संस्थान‘ के तत्वावधान में प्रति वर्ष आयोजित होने वाला यह कवि सम्मेलन किसी साहित्यकार की स्मृति में जनसहयोग से सार्वजनिक स्तर पर निरन्तर आयोजित होने वाला देश का गरिमामयी आयोजन है जिसमें श्रोता श्रेष्ठ कवियों का काव्यपाठ सुनते हैं। 
विगत वर्षां में यह कार्यक्रम कोरोना के कारण प्रशासन की स्वीकृति के अनुसार सीमित श्रोताओं के बीच किया गया किंतु इस वर्ष इस आयोजन की रजत जयंती का यह 25वां आयोजन भव्य और अलग स्वरूप में आयोजित किया जाएगा जिससे यह ऐतिहासिक बन सके। कार्यक्रम आयोजन की तैयारियां की जा रही है। संस्थान के अध्यक्ष जयदेव जोशी ने बताया कि देश के ख्याति प्राप्त कवि इस कार्यक्रम में भाग लेंगे। इस अवसर पर परम्परानुसार देश के जाने माने साहित्यकार, अनुवादक एवं जवाहरलाल नेहरू राजस्थान बाल साहित्य अकादमी के अध्यक्ष इकराम राजस्थानी को इस वर्ष का लोककवि मोहन मण्डेला स्मृति सम्मान देकर सम्मानित किया जायेगा। जोशी ने आम जन से कार्यक्रम की सफलता में सहयोग की अपील की है।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार