शंभुगढ से बीओबी का 27 लाख रुपये रखा एटीएम उखाड़ ले गये बदमाश, एएसआई व कांस्टेबल ने किया पीछा, लेकिन हाथ नहीं लगे लुटेरे


 भीलवाड़ा बीएचएन। भीलवाड़ा जिले के शंभुगढ़ कस्बे से बदमाश बीती रात बीओबी की  एटीएम मशीन ही उखाड़ कर ले गए। बैंक सूत्रों की माने तो एटीएम में करीब 27 लाख रुपये थे। उधर, एक से दो मिनिट का पुलिस ओर बदमाशों के बीच फासला रहा। ये बदमाश एटीएम लेकर गुलाबपुरा की ओर भाग निकले, जिनका गश्ती पुलिस ने गागेड़ा तक पीछा भी किया, लेकिन बदमाश हाथ नहीं लग पाये। बदमाशों को पकडऩे के लिए पुलिस ने भीलवाड़ा सहित तीन   जिलों में भी नाकाबंदी करवाई है। हालांकि अब तक न तो बदमाशों का कोई सुराग पुलिस के हाथ लग पाया है और न ही यह साफ हो पाया कि एटीएम में राशि कितनी थी। खास बात यह है कि यह एटीएम पूर्व में भी बदमाशों के निशाने पर रह चुका है। बदमाश इसी बैंक का एक एटीएम दो सुरक्षाकर्मियों को बंधक बनाकर पहले लूट चुके हैं। इसके बावजूद भी यहां सुरक्षा के कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किये गये।  

दरअसल, बैंक ऑफ बड़ौदा का यह एटीएम शंभुगढ़ में बस स्टैंड पर बैंक के बाहर ही स्थित है। बीती रात करीब साढ़े बारह बजे बदमाशों की टीम कैंपर गाड़ी लेकर एटीएम पर पहुंची। जहां इन बदमाशों ने एटीएम को कैंपर गाड़ी से सांकल से बांधा और उखाडऩे के बाद गाड़ी में डालकर ले गये।  सूत्रों की माने तो बदमाशों ने एटीएम परिसर में लगे सीसी टीवी कैमरे पर स्प्रे कर दिया। इससे कैमरे में यह पूरी वारदात कैद नहीं हो पाई। उधर, दूसरी और एटीएम उखाड़ ले जाने की सूचना से पुलिस महकमा सकते में आ गया। अफरा-तफरी के बीच पुलिस ने बदमाशों व कैंपर को पकडऩे के लिए भीलवाड़ा के साथ ही अजमेर और राजसमंद जिलों में भी नाकाबंदी करवाई, लेकिन बदमाश नहीं पकड़े जा सके। अभी यह पता नहीं चल पाया कि एटीएम में राशि कितनी थी। 

कांस्टेबल राकेश अकेला ही अल्टो लेकर लगा बदमाशों के पीछे
बता दें कि एटीएम उखाडऩे की सूचना सबसे पहले शंभुगढ़ थाने के कांस्टेबल राकेश को मिली। राकेश कस्बे में ही रहता है। राकेश ने बिना समय गंवाये अपनी अल्टो उठाई और बदमाशों की कैंपर के पीछे लग गया। राकेश ने इसकी सूचना गश्त में निकले हुये एएसआई श्यामसुंदर को सूचना दी। वे भी बिना समय गंवाये बोलेरो से बदमाशों के पीछे लग गये। गागेड़ा के आस-पास तक बदमाशों का पीछा किया गया, लेकिन वे आंखों से ओझल हो गये। इन बदमाशों के गुलाबपुरा की ओर जाने की बात सामने आई है। 

 बदमाशों के वाहन के बराबर नहीं दौड़ पाई पुलिस की बोलेरो 
पुलिस की माने तो बदमाशों के पास कैंपर वाहन था, जिसे ये बदमाश वारदात के बाद पुलिस को पीछे लगा देखकर 150 की स्पीड से दौड़ाने लगे। वहीं पुलिस ने भी अपना बोलेरो वाहन जो कि पुराना है, उसे बदमाशों का पीछा करते समय 100 की स्पीड से दौड़ाया। पुलिस बदमाशों के पीछे भी गई, लेकिन वे हाथ नहीं लग पाये।   

  कैंपर से बांधकर तोड़ा शटर, फिर उखाड़ा एटीएम, कैमरे पर किया स्प्रे 
पुलिस सूत्रों के अनुसार, बीती रात एक कैंपर गाड़ी से बदमाश गुलाबपुरा रुट से होकर शंभुगढ़ के मैन बाजार में स्थित बीओबी के एटीएम के बाहर पहुंचे। इस दौरान एटीएम का शटर बंद था, ताले लगे हुये थे। बदमाशों ने शटर को कैंपर से बांध कर खींचा तो शटर टूट गया। एक नकाबपोश बदमाश, अंदर घूसा। वह सीसी टीवी कैमरे में कैद हो गया, लेकिन उसका चेहरा नजर नहीं आया। इस बदमाश ने एटीएम में लगे कैमरे पर स्पे्र कर दिया। इसके बाद बदमाशों ने एटीएम को कैंपर से सांकल के जरिये बांधा और इसके बाद उखाड़े गये एटीएम को कैंपर के डाले में डालकर ले गये। 

 चेहरा बांधे हुये थे बदमाश 
सूत्रों की माने तो बदमाशों ने एटीएम उखाडऩे में जिस बोलेरो कैंपर का इस्तेमाल किया, उसका रंग सफेद था। यह कैंपर वाहन सीसी टीवी कैमरे में कैद है। वहीं इस वारदात में बदमाशों की संख्या चार से पांच हो सकती है। सभी बदमाश अपना चेहरा बांधे हुये थे। उन्होंने कोट -जैकेट पहन रखे थे। 

एक दिन पहले डाले 28 लाख, वारदात के समय 27 लाख रुपये थे एटीएम में  
बता दें कि एटीएम लूट मामले में शंभुगढ़ पुलिस और बैंक अधिकारी छानबीन में लगे है। वारदात की सूचना पर रात में ही डीएसपी भी मौके पर पहुंच गये। पुलिस सूत्रों का कहना है कि वारदात से पहले बदमाशों ने एटीएम में लगे सीसी टीवी कैमरों पर स्प्रे कर दिया था। पुलिस अब कस्बे में मुख्य मार्गों पर लगे सीसी टीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है ताकि कोई सबूत बमदाशों का लग सके। इसके अलावा टोल प्लाजा व अन्य संभावित स्थानों पर भी पुलिस सुराग तलाशने का प्रयास कर रही है। वहीं पुलिस की टीमें बाहर भी तफ्तीश के लिए रवाना की जा रही है। उधर, बैंक सूत्रों का कहना है कि लूटे गय एटीएम में एक दिन पहले 28 लाख रुपये की राशि डाली गई थी। बैंक प्रबंधन का मानना है कि एटीएम में वारदात के समय लगभग 27 लाख रुपये  थे। 

बैंक ऑफ बड़ौदा का एटीएम उखाड़ ले जाने की दूसरी वारदात
शंभुगढ़ के बैंक ऑफ बड़ौदा का एटीएम उखाड़ ले जाने की यह दूसरी वारदात है। इससे पहले वर्ष 2008 में यहां इस तरह की वारदात हो चुकी है। तब भी बदमाशों ने एटीएम पर धावा बोला और नकदी रखा एटीएम उखाड़ ले गये। इससे पहले वहां गश्त कर रहे दो सुरक्षाकर्मियों को इन बदमाशों ने हथियार के दम पर काबू करते हुये पास ही सरकारी स्कूल के कमरे में बंधक बनाकर विशल डोरी से हाथ बांध दिये थे। इस मामले में लिप्त बदमाशों के कुछ साथी अब भी फरार बताये गये हैं। 

 

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस