बेटे-बहू ने जायदाद नाम नहीं करने पर की बुजुर्ग पिता को कुएं में डालने की कोशिश, केस दर्ज

 

 भीलवाड़ा बीएचएन। 75 साल के एक बुजुर्ग को उसी के बेटा-बहू ने सिर्फ इसलिए कुएं में डालेने की कोशिश की, क्यूंकि उसने अपनी जायदाद उनके नाम करने मना कर दिया। घटना मंगरोप थाने के धांगड़ास गांव की है। पीडि़त बुजुर्ग ने पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्धू को शिकायत दी। इसके बाद सिद्धू के आदेश से मंगरोप पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। 
पुलिस ने बताया कि धांगड़ास निवासी बद्रीलाल 75 पुत्र छीतर गाडरी ने पुलिस अधीक्षक को शिकायत दी कि उसका बेटब मथुरालाल गाडरी व बहू नाना पत्नी मथुरालाल गाडरी, परिवादी की सेवा नहीं करते। आये दिन बद्री से गाली-ग्लोच और झगड़ा करते हैं। वे, जमीन-जायदाद अपने नाम करने के लिए उसे डराते धमकाते हैं। साथ ही ऐसा नहीं करने पर जान से मारने की धमकी देकर मारपीट करते हैं।  बेटे की बहू नाना  कुल्हाडी लेकर बुजुर्ग के पीछे दौडती है व काटकर कुएं में डालने की धमकियां देती है । परिवादी का कहना है कि बेटे-बहू उसकी बुढापे में सेवा तो नहीं करते, पर उसका  जीना मुशिकल कर रखा है ।  23 नवंबर 2022 को बुजुर्ग बद्रीलाल अपने खेत पर गया था। बेटे-बहू भी वहां आ गये और गाली-ग्लोच कर जमीन जयादाद उनके नाम करने के लिए दबाव बनाया। बद्री ने ऐसा करने से मना किया तो उससे लाठियों से मारपीट की। घसीटकर कुएं में डालने की कोशिश की। बद्री चिल्लाया और वहां से जान बचाकर भागा। वह भागता नहीं तो आरोपित बड़ी वारदात कर देते। बेटे बहू ने उसे धमकाया कि  आज तो तू बच गया है ,लेकिन तुने जमीन जायदाद हमारे नाम पर नहीं करवाई तो जान से मार देंगे व झूंठे मुकदमें लगााकर जेल में सड़ा देंगे। इसके चलते बद्री  काफी भयभीत व डरा सहमा है। बद्री का आरोप है कि 5 बीघा जमीन इनके नाम करवाई थी, जिसे 11 लाख रुपये में बैच दी। इंजिन और प_ियों की गाड़ी को बैच दिया। दो बाइक बैच दी। इसके बावजूद इनका लालच खत्म नहीं हो रहा है। आये दिन मारने की धमकियां दे रहे हैं। 
पुलिस अधीक्षक ने इस रिपोर्ट को मंगरोप थाने भिजवाते हुये कार्रवाई के आदेश दिये। इस पर मंगरोप पुलिस ने इस शिकायत पर मामला अपराध धारा 384,341,323, भादस के तहत दर्ज कर जांच शुरु कर दी। 
 
 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार