डोडा-चूरा तस्करी के आरोप में ट्रक चालक को दस साल की कैद, आईपीएस कच्छावा ने की थी कार्रवाई


 भीलवाड़ा बीएचएन। विशिष्ट न्यायाधीश (एनडीपीएस प्रकरण) बृजमाधुरी शर्मा ने डोडा-चूरा तस्करी मामले में शनिवार को थलां, श्रीपुरा निवासी ट्रक चालक सांवरमल पुत्र छोटूलाल गुर्जर का 10 साल की कैद और एक लाख रुपये के जुर्माने से दंडित किया है। 
विशिष्ट लोक अभियोजक कैलाशचंद्र चौधरी ने बीएचएन को बताया कि कार्यवाहक सदर थाना प्रभारी आईपीएस (पी) मृदुल कच्छावा 22 जून 2017 को  थाने से गश्त के लिए रवाना हुये। वे, रुपाहेली चौराहा पहुंचे और नाकाबंदी शुरु कर वाहनो ंकी जांच कर रहे थे। इसी दौरान बनकाखेड़ा की ओर से आये मिनी ट्रक को पुलिस ने रोका। उसमें अकेला चालक ही था। पूछताछ करने पर चालक ने खुद को कोटड़ी थाने के थलां, श्रीपुरा निवासी सांवरमल पुत्र छोटलाल गुर्जर बताया। 
आईपीएस कच्छावा ने सांवरमल से ट्रक में भरे माल के बारे में पूछा तो उसने कोई संतोषप्रद जवाब नहीं दिया। ऐसे में संदेह के आधार पर पुलिस ने मिनी ट्रक की चेकिंग की। उसमें प्लास्टिक के तीन कट्टे भरे रखे नजर आये। कच्छावा ने कट्टों को खोलकर चेक किया तो उसमें अफीम डोडा-चूरा भरा मिला। डोडा-चूरा रखकर परिवहन करने से संबंधित कोई लाइसेंस और परमिट आरोपित सांवरलाल के पास नहीं मिला। पुलिस ने डोडा-चूरा सहित मिनी ट्रक को डिटेन कर डोडा-चूरा का वजन करवाया, जो 85 किलो पाया गया। पुलिस ने चालक सांवरमल को गिरफ्तार कर तफ्तीश के बाद उसके खिलाफ चार्जशीट न्यायालय में पेश की। अभियोजन पक्ष की ओर से 15 गवाह और 50 दस्तावेज पेश कर आरोपित सांवरमल पर लगे आरोप सिद्ध किये गये। 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस