हाइवे पर वारदात- कार के आगे फॉरच्यूनर लगाकर छीने एक लाख, उप प्रधान व साथियों पर आरोप

 


 भीलवाड़ा बीएचएन। चित्तौडग़ढ़ हाइवे पर एक कार के आगे फॉरच्यूनर लगाकर कार सवार युवक से एक लाख रुपये छीन लिये। ये लोग पिस्टल हथियारों से लैस थे। इतना ही नहीं, आरोपितों ने एसीबी ट्रैप के मामले में न्यायालय में बयान नहीं बदलने पर जान से मारने की धमकी दी। पीडि़त ने इस संबंध में पुलिस अधीक्षक को शिकायत दी, जिस पर मंगरोप थाने में उप प्रधान सहित अन्य पर एफआईआर दर्ज की गई है। 
मंगरोप पुलिस ने बीएचएन को बताया कि फागणों का खेड़ा निवासी रतनलाल गुर्जर पुत्र स्व. नारायण लाल गुर्जर ने रिपोर्ट दी कि 23 नवंबर को को अपनी कार से भीलवाड़ा से चित्तौडग़ढ़ की ओर जा रहा था। मंडपिया ओवरब्रिज के नीचे से होकर गुजरते समय गुवारड़ी निवासी व पंचायत समिति सुवाना उप प्रधान श्यामलाल गुर्जर अपनी फॉरच्यूनर कार से आया और रतन लाल गुर्जर की कार को पीछे से टक्कर मार दी। रतन ने कार रोक दी। े आरोपित उप प्रधान श्यामलाल गुर्जर ने अपना वाहन रतन की कार के आगे लगाकर सड़क को अवरुद्ध  कर दिया। वाहन में चार- पांच और लोग थे, जिनको रतन, शक्ल से जानता है, नाम से नहीं। ये लोग पिस्टल हथियारों से लैस थे। रतन के पास एक लाख रुपये की नकदी थी। यह राशि वह खंडेलवाल पेट्रोल पंप पर जमा करवाने जा रहा था। यह राशि आरोपित श्यामलाल व उसके साथ वाले लोगों ने छीन ली। 
न्यायालय में बयान नहीं बदले तो जान से खत्म कर देंगे
रतन लाल ने अपनी इस रिपोर्ट में उप प्रधान गुवारड़ी निवासी श्यामलाल गुर्जर के साथ दो अन्य लोगों अनिल खटीक पुत्र स्व. मंगल खटीक मंगरोप व श्यामलाल पुत्र रुपलाल गुर्जर फागणों का खेड़ा को भी आरोपित बनाया है। रतन का आरोप है कि उपप्रधान श्यामलाल ने उसे जान से मारने की धमकी दी ओर कहा कि तूने आरोपित अनिल व श्यामलाल को जो पूर्व में ट्रैप करवाया था, । उस ट्रैप की कार्रवाई में न्यायालय में अगर तूने बयान नहीं बदले तो जान से खत्म कर देंगे। रतन के साथ मारपीट की भी कोशिश की। इतना ही नहीं, उसे धमकी दी कि अगर तूने अनिल व श्यामलाल गुर्जर के खिलाफ किसी प्रकाश की विरुद्ध गवाही दी तो तुझे व परिवार को खत्म कर देंगे। 

आरोप- बयान बदलवाने का दस लाख का ले रखा है सौदा
रतन ने रिपोर्ट में बताया कि उप सरपंच ने अन्य आरोपित अनिल व श्यामलाल गुर्जर से रतन से बयान बदलवाने का वादा कर रखा है और दस लाख रुपये का सौदा भी बयान बदलवाने के लिए कर रखा है। उसे धमकाया गया है कि बयान बदलने होंगे,अन्यथा अंजाम बूरा होगा।

अनिल व श्यामलाल हो चुके हैें ट्रेप
परिवादी रतन ने एफआईआर में बताया कि आरोपित श्यामलाल गुर्जर  पुत्र रुपलाल गुर्जर को 23 मई 2019 को एसीबी राजसमंद की टीम ने ट्रैप किया था। एफआईआर संख्या 132/ 19 है, जबकि आरोपित अनिल खटीक  आबकारी विभाग में है। जो ट्रैप हुआ था। एफआईआर संख्या 41/2013 है। इन दोनों प्रकरणों में परिवादी रतन के बयान एसीबी कोर्ट, भीलवाड़ा में आगामी दिनों में होने हैं। इससे पूर्व आरोपित अपराधिक घटना कारित कर रहे हैं। इसकी शिकायत मंगरोप थाने में कर दी थी, लेकिन किसी प्रकार का न तो मुकदमा दर्ज किया गया न ही कोई कार्रवाई की। परिवादी ने एफआईआर में जान माल की सुरक्षा के लिए सुरक्षाकर्मियों की सहायता दिलवाने की मांग भी की है। 


 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

देवगढ़ से करेड़ा लांबिया स्टेशन व फुलिया कला केकड़ी मार्ग को स्टेट हाईवे में परिवर्तन करने की मांग