पिस्टलनुमा हथियार के साथ पकड़ा गया डूबा-डूबा, कोतवाली पुलिस की कार्रवाई

 


 भीलवाड़ा बीएचएन। शहर कोतवाली पुलिस ने पिस्टलनुमा हथियार के साथ नितिन उर्फ डूबा-डूबा को गिरफ्तार कर आम्र्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। आरोपित ने पुलिस पूछताछ में पिस्टल विक्रेता के नाम का भी खुलासा कर दिया। 
कोतवाली पुलिस के अनुसार, कोतवाल मुकेश कुमार वर्मा  गश्त पर थाने से रवाना हुये। सर्कल गश्त व बदमाशों की निगरानी के लिए राजेंद्र मार्ग, रेलवे स्टेशन, गोल प्याऊ, शास्त्रीनगर, बड़ला चौराहा, तेज सिंह सर्किल होते हुये जमुना विहार चौराहा पहुंचे, जहां मुखबिर से सूचना मिली कि एक व्यक्ति चित्तौडग़ढ़ रोड़ पुलिया के पास खड़ा है, जो देसी पिस्टल बैचने की फिराक में हैं। इस सूचना पर कोतवाल वर्मा जाब्ते सहित चित्तौडग़ढ़ पुलिया के पास रात 8.10 बजे पहुंचे। जहां मुखबिर के बताये हुलिये का एक व्यक्ति खड़ा दिखा जो पुलिस को देखकर पटरी की ओर जाने लगा, जिसे थाना प्रभारी ने जाब्ते की सहायता से घेरा डालकर पकड़ा। पूछताछ करने पर उसने खुद को आईएलजी-20 यूआईटी कोलोनी भोपालपुरा निवासी  नितिन लहरानी उर्फ  डूबा-डूबा 22 पुत्र  सुरेश लहरानी  बताया। 
पुलिस ने शंका के आधार पर नितिन की तलाशी ली तो जीन्स पेंट की कमर में दांयी तरफ  शर्ट के नीचे एक देशी पिस्टलनुमा हथियार छुपाया हुआ मिला। हथियार की मैगजीन खाली मिली।नितिन लहरानी उर्फ डूबा-डूबा के पास  पिस्टलनुमा हथियार मय मैग्जीन के रखने से संबंधित वैैध लाइसेंस नहीं था। पुलिस ने उक्त पिस्टलनुमा हथियार मय मैग्जीन खाली को जब्त कर नितिन को गिरफ्तार किया गया। नितिन लहरानी उर्फ  डूबा-डूबा से जब यह पूछा गया कि वह यह पिस्टल कहां से लाया तो उसने मयंक से खरीदना बताया। पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है। 


 
 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना