प्रदेश कि गहलोत सरकार के जंगलराज से जनता त्रस्त ,महिलाएं नहीं सुरक्षित -संगीता कुमारी चौहान

 

                                                

राजसमन्द( राव दिलीप सिंह) जिले के नाथद्वारा विधानसभा क्षैत्र के कोठारिया मंडल कि बैठक मंडल अध्यक्ष हरदयाल सिंह चौहान कि अध्यक्षता में आयोजित हुई । बैठक के दौरान  वरिष्ठ भाजपा नेत्री संगीता कुमारी चौहान ने कोठारिया कार्यसमिति की बैठक में जनाक्रोश यात्रा को सफल बनाने में कार्यकर्ताओं से आव्हान करते हुए कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार के शासन में जनविरोधी नीतियों और वादाखिलाफी से हर वर्ग प्रताड़ित है। कोई नौजवान  कर्जे के कारण न केवल अपनी जीवन लीला को समाप्त करता है, बल्कि पूरा परिवार अपने प्राणों को त्यागने को मजबूर होता है।वरिष्ठ भाजपा नेत्री संगीता कुमारी चौहान ने आगे  कहा, प्रदेश में ऐसा दृश्य कभी देखा नहीं होगा कि श्रीगंगानगर के रायसिंह नगर के सोहनलाल कडेल ने जब अपना लाइव वीडियो बनाकर यह कहा कि मैं अपनी मौत को इसलिए गले लगा रहा हूं कि क्योंकि मैं कर्जे से तंग आकर आत्मदाह कर रहा हूं, जिस प्रदेश के मुखिया को किसी अबला के 35 टुकड़े किए जाने पर सामान्य घटना लगती है, महिलाओं के खिलाफ अपराधों का 1 साल का आंकड़ा 6 हजार 337 हो, प्रतिदिन औसत 17 दुष्कर्म, सात हत्या, जिसके खाते में दर्ज हो, चार साल में सवा आठ लाख से अधिक मुकदमें राजस्थान की धरती पर पहली बार दर्ज होते हों। आपके घर नवजात पैदा होता होगा, आप लोग खुशियां मनाते होंगे, लेकिन इसी कांग्रेस पार्टी के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरपरस्ती में जब कर्जे का आंकड़ा पांच लाख करोड़ के लगभग पहुंचता होगा तो वह बेटा-बेटी 80 हजार का कर्जा लेकर पैदा होता होगा। आप सभी परिश्रमी और मेहनती कार्यकर्ताओं का इसलिए अभिनंदन करना चाहती हूं कि आज मेरे मन को मेरी आत्मा को आनंद हुआ कि,आप जैसे कर्मठ योद्धा भाजपा हित में कार्यरत हैं ।  कोरोना काल में जहां माननीय  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा  राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के आहवान पर देश भर और प्रदेश भर में कार्यकर्ताओं ने जरूरतमंदों की सेवा की है, जिसकी पूरी दुनिया में सेवा के अनूठे अभियान के रूप में चर्चा हुई।वहीं प्रदेश कि अशोक गहलोत सरकार के जंगलराज ,भस्ट्राचार और कुशासन से जनता त्रस्त हैं , उनके खिलाफ अधिक से अधिक संख्या में जन आक्रोश यात्रा को सफल बनाने में एकजुट होकर सफल बनाएं ।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

मुंडन संस्कार से पहले आई मौत- बेकाबू बोलेरो की टक्कर से पिता-पुत्र की मौत, पत्नी घायल, भादू में शोक

जहाजपुर थाना प्रभारी के पिता ने 2 लाख रुपये लेकर कहा, आप निश्चित होकर ट्रैक्टर चलाओ, मेरा बेटा आपको परेशान नहीं करेगा, शिकायत पर पिता-पुत्र के खिलाफ एसीबी में केस दर्ज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार