तिवारी परिवार की अनूठी पहल- परिजन के निधन पर मृत्युभोज के बजाय किया रक्तदान

 भीलवाड़ा प्रहलाद तेली।आधुनिक जमाने में अब मृत्युभोज की जगह परिजन रक्तदान को बढ़ावा दे रहे हैं। ऐसा ही प्रयास वरिष्ठ पत्रकार प्रमोद तिवारी ने अपनी माता के निधन पर कर अनूठी पहल की है। 
पत्रकार तिवारी की माता सरला तिवारी के द्वादशी पर मृत्युभोज नहीं कर सबसे बड़े दान रक्तदान करने का फैसला लेते हुये परिवार के 15 सदस्यों ने आज महात्मा गांधी अस्पताल में रक्तदान किया। रक्तदान करने वाले तिवारी के पुत्र दिविर, दामाद प्रखर के साथ ही परिजन कुमकुम, अंकुर जोशी आदि शामिल हैं। इस मौके पर कुमकुम ने कहा कि मृत्युभोज को बंद कर रक्तदान करें और इससे बड़ा कोई दान नहीं है। उन्होंने पहली बार रक्तदान किया है। दिविर तिवारी ने कहा कि परिजन की मौत के बाद मृत्यु भोज करना ठीक नहीं है। समाज को इससे कोई फायदा नहीं होता है। इस पर हमने नई पहल करते हुये रक्तदान किया है। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे, अपने किसी परिजन को अंतिम विदाई के रुप में रक्तदान कर इस पहले को आगे बढ़ायें। 
पत्रकार तिवारी का कहना था कि रक्तदान से बड़ा कोई दान नहीं हो सकता है। हम सब को मिलकर इस नेक काम को आगे बढ़ाते हुये समाज में व्याप्त कुरीतियोंं को खत्म करने की ओर आगे बढऩा है। 


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना