12 जिलों में एक ही दिन होगा पुस्तकालय का शुभारंभ



 भीलवाड़ा हलचल। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों में जुटे प्रतिभाओं की मदद के लिए अपना मित्र परिषद खटीक समाज की ओर से 12 जिलों में एक साथ पुस्तकालय का शुभारंभ किया जाएगा। उक्त निर्णय राष्ट्रीय अध्यक्ष सुभाष खोईवाल की अध्यक्षता में गूगल मीट पर आयोजित वर्चुअल मीटिंग में लिया गया। पुस्तकालय का शुभारंभ जून माह में एक दिन ही होगा। वहीं बैठक में अगले चरण में कपासन, दिल्ली व अहमदाबाद में भी पुस्तकालय खोलने की प्रक्रिया अमल में लाने का निर्णय लिया।
वर्चुअल मीटिंग में राष्ट्रीय अध्यक्ष खोईवाल ने बताया कि समाज की प्रतिभाओं के लिए एएमपी का उक्त कदम मील का पत्थर साबित होगा। पुस्तकालय खोलने की मुहिम में विकास अधिकारी अनिल पहाड़िया, सहायक प्रशासनिक अधिकारी सुरेश खोईवाल, मृदा वैज्ञानिक डॉ. सुभाष असवाल, अध्यापक उमेश खोइवाल, कमर्शियल असिसटेंट पिन्टू चांवला, सीनियर नर्सिंग ऑफिसर रेखा चांवला, सीआई मदनलाल सुईल, कनिष्ठ अभियंता नरेन्द्र आर्य, बीएसएफ इंस्पेक्टर खेमचंद चंदेल, एसबीआई बैंक मुख्य प्रबंधक राधेश्याम चंदेल, उपनिदेशक जीएल चांवला, जनरल मैनेजर रीको दिनेश पहाड़िया, कांस्टेबल शंकरलाल बड़गोता, सहायक लेखाधिकारी प्रथम गौरीशंकर चांवला व सीआरपीएफ के असिटेंट कमांडर विकास नावरिया ने खुलकर आर्थिक सहयोग दिया और एक सप्ताह के अंतराल में ही एक साथ 12 जिलों में पुस्तकालय खोलने की योजना ने मृर्त रूप ले लिया। उन्होंने बताया कि एक ही दिन भीलवाड़ा सहित 12 जिलों में ही पुस्तकालय का उद्घाटन जून माह में करने, एक समान ही बोर्ड बनाने व एक समान व्यवस्थाओं से ही संचालन के साथ ही पुस्तकालय में अधिक से अधिक बहुउपयोगी पुस्तकें उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया। वर्चुअल बैठक में राष्ट्रीय संरक्षक अमृत लाल खोईवाल, सत्यप्रकाश खोईवाल, राष्ट्रीय संयोजक रोशनलाल सामरिया (सीआई), राष्ट्रीय संगठन सचिव अनिल पहाड़िया (आरडीएस), राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष विनोद खोईवाल, राष्ट्रीय संयुक्त सचिव राजेन्द्र चोहला, अनिल चंदेल, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराम खोईवाल, राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी राजेश सामरिया आदि ने सुझाव देते हुए पुस्तकालय को समय व संसाधनों के साथ बहुउपयोगी बनाने और सामान्य ज्ञान अपडेट करने वाली पुस्तकों को नियमित मंगवाने और विद्यार्थियों को उपलब्ध कराने पर जोर दिया। साथ ही प्रमाणित पुस्तकें ही क्रय करने और अधिक से अधिक विद्यार्थियों को समय-समय पर अध्ययन के लिए देते हुए बहुउपयोगी बनाने को भी कहा। पुस्तकालयों में उपलब्ध पुस्तकों की सूची राष्ट्रीय स्तर व प्रत्येक जिला स्तर की भी बेवसाइड पर डालने पर जोर दिया।
जिलेवार तैयारियों पर मंथन, दिए सुझावएएमपी द्वारा एक साथ 12 जिलों में पुस्तकालय शुभारंभ करने की तिथि शीघ्र ही घोषित की जाएगी। राष्ट्रीय अध्यक्ष खोईवाल ने बताया कि जिलेवार प्रारंभिक पुस्तकों का सेट पहुंचाते हुए संचालन संबंधी तैयारियों की जानकारी जिलेवार ऑनलाइन ही ली गई। उन्होंने बताया कि कोटा पुस्तकालय के लिए जिलाध्यक्ष त्रिलोक चंदेल, जिला संयोजक केदार बसवाला, जिला कोषाध्यक्ष राकेश परिडवाल, बूंदी पुस्तकालय के लिए जिलाध्यक्ष गोपाल वर्मा, जिला संयोजक वीरेंद्र बबेरवाल, फूलचंद सुइल, चित्तौड़गढ़ के लिए जिलाध्यक्ष गणेशलाल सोलंकी, जिला संयोजक राधेश्याम खोईवाल (राजू घोसुण्डा), दौसा पुस्तकालय के लिए जिलाध्यक्ष भगवानदास बबेरवाल, जिला संयोजक फूलचंद बेनीवाल, टोंक पुस्तकालय के लिए जिलाध्यक्ष जितेंद्र सोयल, ब्लॉक अध्यक्ष कजोड़मल चावला, पाली पुस्तकालय के लिए जिलाध्यक्ष वीरेंद्र वागोरिया, जिला संरक्षक अमित राय खन्ना, किशोर तुषावाड़ा, जिला संयोजक बाबुलाल वागोरिया, अजमेर (किशनगढ़) पुस्तकालय के लिए राजेश कुमार, किशनगढ़ ब्लॉक अध्यक्ष प्रदीप दाहिमा, ब्यावर ब्लॉक अध्यक्ष ब्रह्मनंद सामरिया, सवाईमाधोपुर पुस्तकालय के लिए जिलाध्यक्ष राजेश पहाड़िया, जिला संयोजक मीठालाल राजोरा, राजसमन्द पुस्तकालय के लिए राधेश्याम बोलीवल, लता खींची, श्योपुर (एमपी) पुस्तकालय के लिए जिलाध्यक्ष खेमराज सोयल, नीमच पुस्तकालय के लिए जिलाध्यक्ष लक्ष्मीनारायण बोरीवाल ने ऑनलाइन ही अपने-अपने क्षेत्रों में की तैयारियों के बारे में जानकारी देते हुए उपयोगी सुझाव भी दिए। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की ओर से उक्त पदाधिकारियों को ही अपने-अपने क्षेत्रों में पुस्तकालय संचालन के साथ ही समय के अनुसार उसके कायाकल्प के लिए आवश्यक कदम उठाने की जिम्मेदारी सौंपी। बैठक में अगले चरण में अहमदाबाद के लिए जिलाध्यक्ष बाबूलाल खींची, कपासन के लिए अनिल चंदेल और नई दिल्ली के लिए रंगलाल खींची ने भी पुस्तकालय खोलने के लिए हामी भरी। जिस पर उन्हें तैयारियों करने को कहा गया।

Popular posts from this blog

भीलवाड़ा नगर परिषद चुनाव : भाजपा ने 31, कांग्रेस ने 22 और निर्दलीय ने जीती 17 सीटें, बोर्ड के लिए जोड़ तोड़

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

सिपाहियों के कातिल जोधपुर और बाड़मेर के, एक फौजी भी शामिल !