Sunday, May 30, 2021

कनाडा निवासी सरन घई को - स्वर्गीय रामजस सोडाणी स्मृति अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी साहित्य सेवा सम्मान

 


  भीलवाड़ा हलचल। 35 से अधिक वर्षों से विदेशी धरती पर मातृभाषा के प्रचार प्रसार में निस्वार्थ भाव से सेवारत विश्व हिन्दी संस्थान के संस्थापक कनाडा निवासी   सरन घई को हिन्दी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर - साहित्यक क्षेत्र में प्रतिष्ठित सम्मान  - " स्वर्गीय  रामजस  सोडाणी स्मृति अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी साहित्य सेवा सम्मान 2021" घोषित किया गया है जो लोकडाउन खुलने पर समारोह पूर्वक भेंट किया जायेगा !

उम्र से 71 वर्षीय लेकिन कार्यशैली, आचार विचार व्यवहार से युवा व्यक्तित्व के धनी कवि, लेखक, उपन्यासकार, समाज सेवक, विश्व हिन्दी संस्थान कनाडा के संस्थापक श्री सरन घई विश्व के चयनित साहित्यकारों की श्रेणी में आते हैं!
  संस्थान  के मुख्य निदेशक डॉ अशोक सोडाणी ने बताया कि सरन घई ने यूनिवर्सिटी आफ़ टोरांटो मे लगभग १० वर्ष तक हिंदी अध्यापन का कार्य किया तथा उनकी लगभग 50 पुस्तकें प्रकाशित हुई हैं ! हिन्दी अध्यापन के अलावा आप 25 वर्षों तक ईंडियन टैलीकाम्युनिकेशन विभाग में टैक्निकल सुपरवाइज़र के पद पर कार्य करके स्वैच्छिक सेवानिवृति लेकर कनाडा में जीवन का दूसरा पड़ाव हिन्दी साहित्य की सेवा में व्यतीत कर रहे हैं !

बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...