Monday, May 31, 2021

न्याय की आस में मासूम बेटी को गोद में लेकर पूरी रात 13 किमी चलकर मांडल से भीलवाड़ा पहुँची रानी, पर नही मिल पाई एस पी से

 

 भीलवाड़ा (हलचल संपत माली) मांडल की रहने वाली एक महिला अपनी मासूम बेटी को गोद में लेकर करीब 13 किलोमीटर की दूरी रात में तय कर एसपी से मिलने पहुंची लेकिन मिल नहीं पाई वो अपने ससुराल में मारपीट और यातना से तंग आकर कार्रवाई की मांग को लेकर भीलवाड़ा पहुंची थी।
मांडल के बड़ा मंदिर चौक में रहने वाली रानी सोनी सास ससुर द्वारा आए दिन काम नहीं करने की बात कह कर यातन  देते हैं मारपीट करते हैं कुछ दिन पहले मांडल थाने में भी रानी ने एक रिपोर्ट भी दी बताते हैं ।लेकिन पुलिस ने उस पर कोई कार्रवाई नहीं की इसके बाद भी उसे पीटा गया इससे तंग आकर रानी रविवार शाम 7 बजे घर से निकली और 13 किलामीटर   मासूम बेटी को गोद में लेकर पूरी रात पैदल चलकर सुबह 5 बजे अजमेर चौराहे पहुंची है जहां एक होमगार्ड कर्मी ने उसे लॉकडाउन के चलते रोक लिया और पूछताछ की तो उसने अपनी आपबीती बताई इस पर होमगार्ड कर्मी ने कंट्रोल रूम पुलिस को सूचना दी वहां से पहुंची पुलिस ने रानी को एस पी  से तो नहीं मिलाया ओर महात्मा गांधी अस्पताल स्थित सखी सेंटर पहुंचा दिया ,रानी का कहना था कि उसकी शादी दलाल के माध्यम से मांडल कस्बे में किराने का कारोबार करने वाले गोपाल सोनी से शादी करवा दी। शादी के बाद उसने एक बच्चे को भी जन्म दिया है लेकिन अब उससे काम नहीं करने की बात कह कर प्रताड़ित किया जाता है मारा-पीटा जाता है इसे लेकर वह मांडल थाने भी पहुंची लेकिन पुलिस ने उसकी रिपोर्ट पर कोई कार्रवाई नहीं की अब वह पुलिस अधीक्षक से फरियाद करने आई थी लेकिन एसपी से वे नहीं मिल पाई।



बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...