Sunday, May 30, 2021

अशोक गहलोत बोले- आम आदमी महंगाई के जाल से तंग आ चुका, पेट्रोल की रेट सौ रुपये के पार

 


जयपुर। राजस्थान के सभी 33 जिलों में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर से अधिक दाम में लोगों को मिल रहा है। सबसे ज्यादा महंगा पेट्रोल श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ जिलों में 104.94 प्रति लीटर है। पेट्रोल और डीजल महंगा होने के लिए राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा, आम आदमी महंगाई के जाल से बुरी तरह तंग आ चुका है।

गहलोत ने ट्वीट कर कहा, नरेंद्र मोदी सरकार कोविड महामारी में पेट्रोल-डीजल की कीमतें लगातार बढ़ाकर आमजन को मुश्किल में डाल रही है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम होने के बावजूद पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। कई राज्यों में पेट्रोल के दाम 100 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा है। एक तरफ आम आदमी कोविड और आमदनी कम होने से परेशान है।

वहीं केंद्र सरकार महंगाई से उसके लिए परेशानी पैदा कर रही है। गहलेात ने कहा कि केंद्र सरकार को पेट्रोल व डीजल पर टैक्स कम कर आम आदमी को राहत देनी चाहिए थी तब इस साल के नए बजट में इन पर नया ट्रैक्स लगा दिया गया। इससे ट्रोसपोर्टशन चार्ज बढ़ गया,जिससे महंगाई हो गई। उधरे पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सुनीत बगई को कहना है कि प्रदेश के अधिकांश पेट्रोल पंप घाटे में चल रहे हैं।

 

केंद्र के साथ राज्य सरकार को भी पेट्रोल व डीजल पर वैट कम करना चाहिए। आसपास के राज्यों में पेट्रोल व डीजल के रेट कम होने के कारण वहां से गुजरने वाले अधिकांश वाहन चलाक प्रदेश की सीमा में प्रवेश से पहले ही पेट्रोल व डीजल लेकर आते हैं। इससे यहां के पेट्रोल पंप संचालकों को काफी नुकसान हो रहा है । 

बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...