साधु का शव पेड़ से उतारा,समाधि देते वक्त जगह को लेकर विवाद ,पथराव 20 से ज्यादा लोग घायल

 


 

जयपुर  जिले के जसवंतपुरा थाना क्षेत्र के राजपुरा गांव में सुंधा माता मंदिर की तलहटी के पास स्थित आश्रम के आत्महत्या करने वाले संत रविनाथ का शव प्रशासन एवं संतों के बीच सहमति बनने के बाद आज सुबह पेड़ से उतारा गया।

बाबा को समाधि देते वक्त जगह को लेकर विवाद हो गया। साधु के समर्थक विधायक की जमीन पर समाधि देना चाहते थे, इस पर पुलिस ने रोका। इससे नाराज लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पथराव 20 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। वहीं एक कांस्टेबल को भी चोट लगी है, जिसे हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है। फिलहाल समाधि नहीं दी जा सकी है।
उल्लेखनीय है कि गुरुवार देर रात आश्रम के संत रविनाथ ने पेड़ पर फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी। मामला जमीन से जुड़ा एवं मौके से सुसाइड नोट भी मिला बताया जा रहा है। आश्रम के दूसरे साधुओं एवं ग्रामीणों ने सुसाइड नोट को सार्वजनिक करने की मांग करते हुए शव को नीचे नहीं उतारने दिया था।

यह है विवाद
आश्रम और सुंधा माता सड़क के बीच भीनमाल विधायक पूराराम चौधरी की 20 बीघा जमीन है। इस जगह विधायक चौधरी का रिजॉर्ट प्रस्तावित है। जमीन करोड़ों की बताई जा रही है। यदि जमीन की चारदीवारी बनाई जाती है तो सड़क से आश्रम जाने का रास्ता बंद हो जाता है।

पिछले दो दिनों से इस जमीन की पैमाइश करवाई जा रही थी। बताया जा रहा है रास्ता बंद होने व विधायक की दादागिरी से परेशान संत रविनाथ ने सुसाइड कर लिया। आगे बढ़ने से पहले नीचे दिए गए पोल में हिस्सा लेकर आप अपनी राय दे सकते हैं।

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना