नाथूसिंह की प्रताडऩा व धमकी से तंग आकर रेडीमेड गारमेंटस व्यवसायी ने दी जान

 


  पत्नी पीहर व बेटी गई थी स्कूल बेटी गई थी स्कूल
 भीलवाड़ा  बीएचएन। शहर के बापूनगर में रेडीमेड गारमेंट व्यवसायी ने मंगलवार सुबह फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। व्यवसासी की पत्नी पीहर गई थी, जबकि उनकी बेटी को वे, खुद स्कूल के टेंपो में छोड़ आये थे। पुलिस का कहना है कि व्यवसायी ने सुसाइड से पहले सुसाइड नोट भी लिख छोड़ा, जिसमें कुंभा सर्किल स्थित महाराणा ज्वैलर्स के मालिक नाथूसिंह सौलंकी की प्रताडऩा व धमकी से परेशान होकर यह कदम उठाने का आरोप लगाया है। इस पर पुलिस ने नाथू सिंह के खिलाफ खुदकुशी के लिए मजबूर करने का केस दर्ज कर लिया।   
प्रताप नगर थाने के सहायक उप निरीक्षक राजेंद्र पाल ने बताया कि जालोर जिले के धानसा गांव निवासी अमरसिंह पुत्र  पर्वतसिंह राठौड़ अभी बापूनगर में ए सेक्टर स्थित मकान में किराये से रहते थे। सिंह के साथ उनकी पत्नी, एक बेटा और बेटी भी रह रहे थे। पत्नी, बेटे सहित पीहर नेगडिय़ाकलां, चित्तौडग़ढ़ गई हुई थी। मंगलवार सुबह सिंह, अपनी बेटी को स्कूल के टेंपो  में बैठाकर घर लौटे। इसके बाद उन्होंने कमरे का दरवाजा अंदर से रस्सी से बांध दिया। कूंदा नहीं लगाया। इसके बाद सिंह स्टोल का फंदा गले में डालकर पंखे से लटक गये, जिससे उनकी मौत हो गई।  बता दें कि सिंह का कुंभा सर्किल पर नेहा कलेक्शन के नाम से रेडिमेड गारमेंट्स का व्यवसाय था। सुबह करीब 9.20 बजे सिंह की दुकान का कर्मचारी उनके घर दुकान की चॉबी लेने के लिए पहुंचा। कर्मचारी को कमरा अंदर से बंद मिला। उसने सिंह को आवाज दी, लेकिन कोई जवाब उसे नहीं मिला। ऐसे में कर्मचारी ने  सिंह की बहन को फोन किया तो बहन ने उसे दरवाजा तोडऩे के लिए कहा। दरवाजा अंदर रस्सी से बंधा हुआ था। कर्मचारी ने चाकू से रस्सी को काटकर गेट खोला। सिंह पंखे से लटके मिले। कर्मचारी ने ही पुलिस को सूचना दी। एएसआई राधाकिशन गुर्जर, राजेंद्र पाल व एचसी कानाराम प्रजापत मय जाब्ता मौके पर पहुंचे।  इसके बाद सिंह का साला नेगडिय़ाकलां निवासी युवराज सिंह व अन्य परिजन आये। इसके बाद शव को फंदे से उतार कर एमजीएच स्थित मोर्चरी भिजवा दिया। 
मौके पर सिंह का लिखा सुसाइड नोट मिला। सिंह के साले युवराज सिंह ने पुलिस को दी रिपोर्ट में बताया कि मृत्यु पूर्व सिंह ने  सुसाइड नोट लिख छोड़ा, जिसमें नाथू सिंह सौलंकी महाराणा ज्वैलर्स कुंभा सर्किल मेरे इस कदम उठाने का जिम्मेदार है। युवराज ने रिपोर्ट में बताया कि उनके जीजा व आरोपित नाथू सिंह के बीच रुपयों का लेन-देन था, इसलिये यह आरोपित सिंह को 5-7 दिन से परेशान कर रहा था। इसी के चलते उन्होंने यह कदम उठाया। पुलिस ने युवराज सिंह की इस रिपोर्ट पर नाथू सिंह के खिलाफ अमर सिंह को खुदकुशी के लिए मजबूर करने के आरोप में मामला दर्ज कर लिया। इससे पहले पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया। 
 
सुसाइड नोट में लिखा... मेरे इस हालात का जिम्मेदार नाथू सिंह है
प्रताप नगर थाने के एचसी केआर प्रजापत ने  बीएचएन को बताया कि अमर सिंह का सुसाइड से पहले लिखा सुसाइड नोट पुलिस को मिला है। इस सुसाइड नोट में सिंह ने लिखा है कि मेरे इस हालात का जिम्मेदार नाथू सिंह सौलंकी महाराणा ज्वैलर्स है। मैं, इसके चक्कर में फंस गया हूं। यह बात मैने घर पर भी नहीं बताई। इसलिये मुझे आज यह करना पड़ रहा है। सिंह ने यह भी लिखा कि इसके बाद मेरी बॉडी उस आदमी को दे दी जाये। उन्होंने मुझे बहूत धमकियां दी है। मेरे परिवार वालों मुझे माफ करना, क्यूंकि मैने आप लोगों को नहीं बताया। 

पिता के इकलौते बेटे और दो बच्चों के पिता थे अमर सिंह
पुलिस का कहना है कि जालोर जिले के निवासी अमर सिंह राठौड़, लंबे समय से भीलवाड़ा में रहकर कपड़े का व्यवसाय कर रहे हैं। इससे पहले वे यहां नौकरी भी कर चुके हैं।  बताया गया है कि सिंह, अपने पिता के इकलौते बेटे थे। एक साल पहले पिता का भी निधन हो गया था।  इतना ही नहीं, वे पांच बहनों में इकलौते भाई भी थे। सिंह के एक बेटा और एक बेटी है।  

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

कार खड़े ट्रक से टकराई भीलवाड़ा के एक ही परिवार के तीन लोगों सहित 4 व्यक्तियों की मौत

फार्म हाउस पर छापा, भीलवाड़ा -चित्तौड़गढ़ जिले के 31 जुआरी गिरफ्तार सात लाख से ज्यादा की नकदी बरामद

कपड़ा व्यवसायी के घर चल रहा था सेक्स रैकेट , 2 लड़कियां सहित 6 हिरासत में