बसों में माल ढुलाई के विरोध व स्थानीय समस्याओं को लेकर ट्रांसपोर्ट नगर पूर्णतया बंद, कारोबार प्रभावित

 


  भीलवाड़ा बीएचएन।   यात्री बसों में माल ढुलाई को वैध करने  और स्थानीय समस्याओं को पिछले दस साल से प्रशासन द्वारा अनदेखा करने के विरोध में शनिवार को  ट्रांसपोर्ट नगर पूर्णतया बंद रहा। बंद के चलते वाहन चालकों के साथ ही व्यापारी भी परेशान रहे। चाय-बीड़ी, ढाबे तक बंद रहने से परेशान लोगों को शहर की ओर रुख करना पड़ा। वहीं प्रतिदिन लोडिंग-अन लोडिंग होने वाले  करीब 800 वाहन और 5000 व्यक्ति भी बंद के चलते प्रभावित हुये हैं।  इस बीच, एसडीएम व सीओ सिटी ने मौके पर जाकर ट्रांसपोर्ट व्यवसायियों से चर्चा कर आश्वासन दिया कि वे, संबंधित विभागों से टीपी नगर का सर्वे करवा कर समस्याओं का जल्द समाधान करवायेंगे। इस आश्वासन के बाद व्यवसायियों ने वाहन रैली स्थगित कर दी। ट्रांसपोर्ट नगर के अध्यक्ष विश्वबंधु सिंह राठौड़ ने कहा कि अगर समस्याओं को अनदेखा किया गया तो अगली बार अनिश्चितकाल के लिए टीपी नगर बंद रखा जायेगा। 

भीलवाड़ा गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष विश्वबंधु सिंह राठौड़ ने बताया कि टीपी नगर में सड़क , नाली, शौचालय, स्नानघर,  बिजली जैसी जरुरत की सुविधाओं के लिए भी प्रतिदिन यहां आने वाले 5 हजार लोगों को परेशान होना पड़ रहा है। राठौड़ ने कहा कि इन समस्याओं को लेकर पिछले दस साल से प्रशासन टीपी नगर को अनदेखा किये हुये हैं। इसी को लेकर आज ट्रांसपोर्ट नगर बंद रखा गया। बंद के चलते सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान, होटल, ढाबे, चाय-पान की थडिय़ां और शराब ठेका तक बंद रहा। इन समस्याओं को लेकर शहर में वाहन रैली निकाली जाने वाली थी, लेकिन इससे पहले ही प्रशासन टीपी नगर पहुंचा और सुध ली। एसडीएम ओमप्रभा व डीएसपी सिटी नरेंद्र दायमा ने ट्रांसपोर्ट व्यापारियों से बातचीत कर समस्यायें सुनीं। व्यवसायियों ने अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन भी दिया। इस बीच, यूआईटी से एक्सईएन, आईएन, जेईएन व नगर परिषद से अखेराम भी मौके पर पहुंचे। इसके बाद सफाई चालू करवा दी गई। एसडीएम ने आश्वासन दिया कि टीपी नगर की जो भी समस्यायें हैं, उनका सर्वे करके समस्याओं को आगे रखेंगे और शीघ्र समाधान करने के प्रयास किये जायेंगे। 
उधर, राठौड़ ने कहा कि अगर, समस्याओं का हल नहीं निकलता है तो आगे अनिश्चित कालीन बंद रहेगा। उन्होंने बताया कि आज जो वाहन रैली शहर में निकाली जाने वाली थी, उसे प्रशासन के अनुरोध पर स्थगित कर दिया। राठौड़ ने कहा कि टीपी नगर बंद रहने से आज कारोबार प्रभावित हुआ है। प्रतिदिन लोडिंग-अन लोडिंग होने वाले  करीब 800 वाहन और 5000 व्यक्ति भी बंद के चलते प्रभावित हुये हैं।  

अतिक्रमण, खंभों की छोटी हाइट भी परेशानी का कारण
टीपीनगर में अतिक्रमण की बहुत बड़ी समस्या है। वहीं 1986 में बिजली के खंभे लगे थे।  जिनकी हाइट छोटी है, जबकि सरकार ने गाड़ी की हाइट साढ़े चौदह फीट पास की है। कई पुराने खंभे हैं तो तार टूटने की आशंका रहती है। यह समस्या भी प्रशासन ने नोट की है। 

सुखाबंदरगाह का उपयोग करें तो मिल सकती है राहत
सुखा बंदरगाह करीब 15 साल पहले बना था और आज तक खाली पड़ा हुआ है। चार-पांच  बीघा जमीन भी है। अगर ट्रांसपोर्टनगर की ऐसी गाडिय़ां जो लंबी है, उन्हें वहां खड़ी करने के लिए प्रमीशन मिल जाये तो बहूत सारा लोड कम हो सकता है। 

रिपेयरिंग के लिए रोज आती है चार सौ पांच सौ गाडिय़ां
अध्यक्ष राठौड़ ने कहा कि ट्रांसपोर्ट नगर सिकूड़ता जा रहा है। कारण, मिस्त्रियों के गैराज भी यहीं लगे है। ऐेसे में हर दिन चार सौ से पांच सौ गाडिय़ां केवल रिपेयरिंग के लिए यहां आती है। इन्हें भी अगर सुखा बंदरगाह में शिफ्ट कर दिया जाये तो वाहनों की सुरक्षा भी रहेगी। ्र

कई सालों से सड़कों पर छोड़ रखे हैं वाहन
राठौड़ ने बताया कि ट्रांसपोर्ट नगर इलाके में कई सालों से मोटर मालिकों ने अपने वाहन सड़कों पर छोड़ रखे हैं, जिनकी कोई सुध लेने वाला नहीं है। ऐसे वाहनों को प्रशासन 102 में सीज करें, जुर्माना लगाये, ताकि सड़कों पर यातायात व्यवस्थित हो सके। अव्यवस्थित खड़े रहने वाले वाहनों के कारण लंबी-चौड़ी सड़कें मात्र दस-दस फीट रह गई। 

 

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

VIDEO आसींद में युवक से मारपीट, तोड़फोड़, आगजनी का प्रयास, बाजार बंद, दो के खिलाफ रेप का मामला दर्ज

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

कपड़ा व्यवसायी के घर चल रहा था सेक्स रैकेट , 2 लड़कियां सहित 6 हिरासत में