पिस्टल की खरीद फरोख्त में दस दिन पहले ही पकड़ा था इब्राहिम के नाबालिग हत्या के आरोपी को, कई तरह की चर्चाएं

भीलवाड़ा (हलचल)। बड़ला चौराहे पर अंधाधुंध फायरिंग कर एक व्यक्ति की हत्या करने के मामले में डिटेन किया गया बाल अपचारी को कोतवाली पुलिस ने दस दिन पहले अवैध रिवाल्वर बेचने के आरोप में भी पकड़ा था। पुलिस ने उससे गहन पूछताछ भी की तो सामने आया कि उसने कपासन के एक व्यक्ति से यह रिवाल्वर खरीदी थी।इसके अलावा उसके पास और कोई हथियार नहीं है। लेकिन दस दिन के बाद ही इतनी बड़ी वारदात को अंजाम देने को लेकर कई तरह की चर्चाएं है। 
जानकारी के अनुसार गत 14 नवम्बर को शहर कोतवाल मुकेश वर्मा ने गश्त के दौरान चित्तौड़ रोड पुलिया के पास यूआईटी कॉलोनी भोपालपुरा निवासी सुरेश लहरानी के पुत्र नितिन लहरानी उर्फ डुब्बा-डुब्बा को एक रिवाल्वर के साथ पकड़ा था। उसे आम्र्स एक्ट के तहत पुलिस ने गिरफ्तार किया। 15.5 सेमी लम्बाई व बैरल से हत्थे की लम्बाई 11 सेमी वाली इस रिवाल्वर को उसने पूछताछ में बताया कि यह रिवाल्वर भोपालपुरा के रहने वाले एक युवक से खरीदी है। पुलिस ने उसकी जानकारी पर भोपालपुरा के रहने वाले बारहवीं क्लास के छात्र को कोतवाली लाकर पूछताछ की। 11 जुलाई 2005 को जन्मे इस छात्र ने बताया कि उसने पहली से नवीं तक एवरग्रीन स्कूल में पढ़ाई की और वर्तमान में वह बारहवीं की पढ़ाई आदर्श विद्या मंदिर शास्त्रीनगर में कर रहा है। कुछ दिनों पहले उसकी मुलाकात महात्मा गांधी अस्पताल की केन्टीन में चाय पीने के दौरान उसके परिवार के एक परिचित कपासन निवासी मोहम्मद आफताब उर्फ अकरम उर्फ अक्की खान से हुई थी। जिसने उससे कहा कि वह एक रिवाल्वर बेचना चाहता है। इस पर उसने रिवाल्वर बिकवाने की बात कही। बाद में अप्सरा काम्पलेक्स के रेंप पर नितिन लहरानी उर्फ डुब्बा-डुब्बा को 36 हजार रुपए में बेच दी और 31 हजार रुपए ले लिये बाकी पांच हजार रुपए बाद में लेना तय हुआ। पूछताछ में उसने कहा कि इसके अलावा मैंने कोई पिस्टल या हथियार नहीं खरीदे है। नाबालिग होने के कारण इस छात्र को जमानत मिल गई थी लेकिन हथियार की खरीद और बिक्री करने वाले इस छात्र ने दस दिन बाद ही इतनी बड़ी वारदात को अपने भाई के साथ मिलकर अंजाम दिया। यह किसी ने सोचा भी नहीं था। 
कल अंधाधुध फायरिंग के बाद इब्राहिम की मौत हो गई थी। इसके बाद अस्पताल में जमा भीड़ में कई लोगों में इस तरह की चर्चा की थी कि जिस नाबालिग को पुलिस ने दस दिन पहले ही हथियार की खरीद फरोख्त में पकड़ा हो उसके पास और हथियार कहां से आये, इसकी भी गहनता से जांच होनी चाहिए। अभी तक इस मामले में हथियार बेचने वाले अक्की खान की भी गिरफ्तार नहीं हो पाई है। इसे लेकर कई तरह की लोगों में चर्चाएं है। 


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

कन्या हत्याकांड- भीलवाड़ा में साली की हत्या कर भागे जीजा ने एमपी में दी जान, मार कर मरुंगा का एफबी पर लगाया था स्टेटस

छोटे भाई की पत्नी के साथ होटल में रंगरलियां मना रहा था पुलिसकर्मी, सिपाही पत्नी ने पकड़ा और कर दी धुनाई

66वीं राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल मैच कल , राजस्थान का गोल्डमैन व समाजसेवी कन्हैया लाल खटीक आएंगे

प्रोसेस हाउस की बस की टक्कर से ऑटो मोबाइल कंपनी के मैनेजर की मौत

बेटे का आरोप-ब्लैकमेलिंग से परेशान था मोहम्मद रईस, विषाक्त सेवन कर शिकायत देने गया था एसपी ऑफिस