Sunday, May 23, 2021

5 दिन में मांगे नहीं मानी तो ठेके के सभी लैब सहायक जाएंगे पैदल जयपुर

 


 भीलवाड़ा हलचल।राज्य सरकार की ओर से 3 वर्ष पूर्व 2018 में निकाली गई लैब सहायक भर्ती की सूची अगर 5 दिन में नहीं निकाली गई तो भीलवाड़ा से एक प्रतिनिधिमंडल व संभवतः सभी कर्मचारी पैदल जयपुर कूच करेंगे। यह जानकारी देते हुए प्रयोगशाला सहायक संघ भीलवाड़ा के जिलाध्यक्ष रामपाल भांड ने बताया की राज्य की गहलोत सरकार ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में प्रदेश भर में ठेके, संविदा व अन्य प्लेसमेंट एजेंसी के तहत लगे लैब सहायकों को भर्ती निकालकर नियमित करने का आश्वासन दिया था इसके बाद हाल ही में सहाड़ा विधायक कैलाश त्रिवेदी के निधन के बाद हुए उपचुनाव में दिए गए समस्त कर्मचारियों के वहां पहुंचने पर भी एक माह के अंदर भर्ती संबंधित निर्णय लेने का आश्वासन दिया था। बावजूद इसके अब तक कोई निर्णय नहीं लिया गया। सरकार द्वारा पिछले 3 साल से भर्ती अटकाने के बावजूद उक्त सभी कर्मचारी दिन रात मामूली वेतन में काम कर रहे हैं। वर्तमान में कोविड-19 संक्रमण तेजी से फैलने के बावजूद सभी कर्मचारी कोविड-19 वार्ड में मरीजों के सैंपल कलेक्शन कर रहे हैं। कोरोना जांच केंद्र में भी ईमानदारी से अपनी ड्यूटी का निर्वहन कर रहे हैं। कर्मचारी अब सरकार के भर्ती संबंधी निर्णय लेने का इंतजार कर रहे हैं। जल्दी ही सरकार अगले 5 दिनों में कोई निर्णय नहीं लेती है तो कर्मचारी पैदल ही जयपुर कूच करेंगे। कर्मचारियों के जयपुर पैदल जाने के बाद कार्य व्यवस्था बाधित होती है तो उसकी समस्त जिम्मेदारी सरकार की होगी। मुख्यमंत्री निशुल्क जांच योजना के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद नारायण सोनी, अरुण शर्मा एवं राजेंद्र चौधरी आदि ने भी सरकार से भर्ती के संबंध में जल्द निर्णय लेने की मांग की है।

बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...