Thursday, May 20, 2021

बारिश के बाद कीचड़ से बदहाल हुई कृषि मंडी , गंदगी में वाहनों से उतारी गई सब्जियां, बीमारियां फैलने की आशंका

 

  भीलवाड़ा संपत माली। ताऊ-ते चक्रवात के चलते भीलवाड़ा में हुई बारिश के बाद कृषि उपज मंडी परिसर में गंदगी का आलम है। इसी गंदगी में बिक्री के लिए लाई गई सब्जियों को उतारा गया है, जो अब बाजार में बिक्री के लिए लाई गई है। जानकारों की माने तो गंदगी से अटी ये सब्जियां खाने से लोग बीमार पड़ सकते हैं। इतना सबकुछ होने के बाद भी न तो प्रशासन और न ही मंडी प्रबंधन इस और ध्यान दे पा रहा है। व्यापारियों की माने तो जब तक नाले-नाली का मंडी में निर्माण नहीं हो जाता, यह समस्या ज्यों की त्यों बनी रहेगी।  
शहर में चक्रवात ताऊ ते के चलते 36 घंटे तक बारिश का दौर चला।  इससे कृषि उपज मंडी स्थित सब्जी मंडी में अजमेर तिराहा और जेल तिराहे की ओर से आने वाले नाले का पानी जमा हो गया था। बारिश तो गुरुवार को थम गई, लेकिन बारिश के बाद मंडी परिसर कीचड़ से सन गया। बीती रात और गुरुवार सुबह बिक्री के लिए किसानों द्वारा लाई गई और व्यापारियों द्वारा बाहर से मंगवाई गई सब्जियां को मजबूरन इसी गंदगी में उतारना पड़ा। 
गंदगी से अटी पड़ी इन सब्जियों को अब बिक्री के लिए रिटेल व्यापारी बाजार में लाये हैं। जानकारों की माने तो इस तरह की सब्जियों का सेवन करने से बीमारियां फैल सकती है। भीलवाड़ा फल, सब्जी, आलू आड़तिया संघ के महामंत्री मथुरालाल माली ने बताया कि मंडी परिसर में नालियां और नाला नहीं बने होने से जल की निकासी नहीं हो पाती है और बाहर से बहकर आई गंदगी मंडी परिसर में जमा हो जाती है। ऐसे में बारिश के दौरान ऐसी समस्या बनी रहती है। कई बार मंडी प्रशासन का ध्यान इस और आकृष्ट किया गया, लेकिन समस्या का समाधान अब तक नहीं हो पाया।  

बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...