Friday, May 21, 2021

छोटे से गांव के लोगों का बड़ा प्रयास, रोगियों के लिए की बेड, ऑक्सीजन सिलेंडर और निशुल्क एंबुलेंस की व्यवस्था

 

 अंटाली सुनील कुमार। गुलाबपुरा उपखंड क्षेत्र के छोटे से गांव अंटाली के युवाओं और ग्रामीणों ने अनोखी पहल करते हुए भामाशाह के सहयोग से  गांव के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए 5 बेड एवं 9 ऑक्सीजन सिलेंडर, 300 लीटर हाइपोक्लोराइड,ग्लव्ज 100, 500 मास्क, ऑक्सीजन,10वॉल,6 ऑक्सीजन पाइप,4 ऑक्सीजन फेस मास्क,5ऑक्सो पल्स मीटर ,बीपी इंस्ट्ूमेंट, पीपीई किट सहित अन्य उपकरणों को खरीद कर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अंटाली को भेंट किया। भामाशाह द्वारा किये गये इस कार्य की सभी ने सराहनीय की। नर सेवा नारायण सेवा ग्रुप के सदस्य ने बताया कि युवाओं ने आगे आकर गांव में अनोखी पहल की है। जिसमें सबसे पहले नर सेवा नारायण सेवा के नाम से व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया। जिसमें स्थानीय और प्रवासी लोगों को जोड़ा गया। इसके बाद भामाशाह ने सहयोग राशि देना शुरू किया जिससे 7 दिन में लगभग 7 लाख रुपए की राशि एकत्रित हुई।  राशि से हॉस्पिटल के उपकरण खरीद कर भेंट किए गए। इस कोरोना महामारी से निपटने के लिए सभी राजनीतिक संगठन एकजुट होकर सभी ने  हारेगा कोरोना, जीतेगा अंटाली का संकल्प लिया। 

 निशुल्क एंबुलेंस की व्यवस्था 
 महावीर प्रसाद डॉक्टर भूपेंद्र चौधरी(प्रतापपुरा) वाले की तरफ से जो कोरोना मरीज अपना इलाज कराने के लिए जिला मुख्यालय जाने में असमर्थ हैं, उनके लिए नि:शुल्क एंबुलेंस की व्यवस्था की है।  

ऐसे की शुरुआत
 सबसे पहले गांव के समाजसेवी प्रतिनिधि मंडल ने डॉक्टर नेमीचंद बिजारणिया से संपर्क कर हॉस्पिटल में आवश्यक संसाधनों के बारे में पता किया। जो उपकरण चिकित्सालय में नहीं थे। उसे बाजार से खरीद कर अस्पताल को भेंट किया,ताकि ग्राम पंचायत अंटाली के कोविड-19 के मरीज को समय पर ऑक्सीजन की व्यवस्था मिल सके। जो मरीज के लिए जीवनदायिनी सिद्ध हो सकती है। एवं 3 दिन तक स्थानीय स्तर पर डॉक्टर नेमीचंद की अगुवाई में मेडिकल टीम ने 60 सैंपल लिया ।  नर सेवा नारायण सेवा के सदस्य ने बताया कि पंचायत क्षेत्र में कई ऐसे परिवार हैं जो जिला मुख्यालय एवं ब्लॉक मुख्यालय जांच कराने मैं सक्षम नहीं है, ऐसे में टीम को गांव में ही बुलाकर ग्रामीणों के सैंपल लिए और जो कोविड-19 थे उन्हें निशुल्क एंबुलेंस से तहसील स्तरीय जिला मुख्यालय ले जाया जाता है ताकि उन्हें समय पर उपचार मिल सके और वह कोरोना से जंग जीतकर परिवार में फिर से खुशियां बांट सकें। 

बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...