Friday, May 21, 2021

पी एम केयर फंड से आए वेंटिलेटर निजी चिकित्सालय को देना गलत , चिरंजीवी योजना का लाभ नहीं मिलना आम जनता के साथ कुठाराघात - तेली

 

 भीलवाड़ा हलचल। केंद्र सरकार द्वारा पीएम केयर्स फंड के तहत महात्मा गांधी चिकित्सालय भीलवाड़ा में 9 माह पहले आम गरीब रोगियों की सेवार्थ भेजे गए 25 वेंटिलेटर राजकीय चिकित्सालय में संचालित नहीं कर निजी चिकित्सालय को दिए जाने का भारतीय जनता पार्टी जिलाध्यक्ष लादू लाल तेली ने विरोध करते हुए कहा कि यह आम गरीब रोगियों के साथ कुठाराघात व अन्याय हैl 

भाजपा जिला प्रवक्ता कैलाश सोनी ने बताया कि भाजपा की वर्चुअल प्रेस वार्ता के दौरान  भाजपा जिलाध्यक्ष लादू लाल तेली ने कहा कि कोरोना संक्रमण पीड़ित रोगियों की सेवार्थ 9 माह पहले केंद्र सरकार द्वारा भेजे गए वेंटिलेटर को पहले तो चिकित्सालय प्रशासन ने प्रदेश कांग्रेस सरकार की ओछी और घटिया राजनीतिक सोच के चलते कबाड़ की तरह बंद कमरे में  पडे रखा जिसका भाजपा द्वारा विरोध करने पर वेंटिलेटर को राजकीय चिकित्सालय में संचालित करने के बजाए निजी चिकित्सालयों को दे दिए गए हैं। जो गरीब रोगियों से मनमानी राशि वसूल करते हुए उनके साथ लूट करेंगे वही आम गरीब रोगी को वेंटिलेटर जान बचाने के लिए नसीब नहीं हो पाएंगे ।भाजपा जिलाध्यक्ष तेली ने कहा कि जो वेंटिलेटर राजकीय चिकित्सालय मैं भेजे गए थे उन्हें किसी निजी चिकित्सालयों को देने का अधिकार नहीं है इसलिए नियमों के विपरीत जाकर निजी चिकित्सालयों को सरकारी उपकरण वेंटिलेटर देना राज्य सरकार मंत्रियों व अधिकारियों की आपसी मिली मिली भगत और भ्रष्टाचार को दर्शाता है। भाजपा जिलाध्यक्ष तेली ने कहा कि अब तक वेंटिलेटर को चालू नहीं किया जाने से भीलवाड़ा महात्मा गांधी चिकित्सालय में सैकड़ों लोगों की वेंटीलेटर के अभाव में मौतें हो चुकी है वेंटीलेटर के अभाव में हुई मौतों का जिम्मेदार महात्मा गांधी चिकित्सालय व प्रशासन को बताते हुए  कहा कि वेंटिलेटर सरकारी व केंद्र सरकार द्वारा भेजे गए हैं इसलिए महात्मा गांधी चिकित्सालय में ही संचालित होने चाहिए इसके साथ ही 

 तेली ने महात्मा गांधी चिकित्सालय प्रभारी पर आम जनता और सरकार को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए कहा कि दिनांक 10 मई 2021 को पीएमओ अरुण गोड द्वारा बताया गया था कि पीएम केयर्स फंड के सभी वेंटिलेटर महात्मा गांधी चिकित्सालय में चल रहे हैं उनका मरीजों के लिए उपयोग हो रहा है तो फिर उन्हें निजी चिकित्सालय में भेजकर आम गरीब रोगियों की अनदेखी जा रही है।  आयुष्मान व भामाशाह योजना को लागू नहीं कर उसकी जगह मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना को संचालित करने के बाद भी भीलवाड़ा में गरीब असहाय पीड़ित मरीजों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है तथा रोगी दर-दर की ठोकरें खाने पर मजबूर है। वहीं जिला प्रशासन को बार-बार अनुरोध करने पर भी निजी चिकित्सालय  द्वारा अभी भी मनमानी की जा रही है तथा रोगियों को इलाज के लिए भर्ती नहीं कर चक्कर लगाए जा रहे हैं।

 भाजपा जिलाध्यक्ष  तेली ने भीलवाड़ा जिले में स्थित सीएचसी व पीएचसी में संक्रमण जांच को तेज करने के साथ ही गांव में कोरोना किट दवाइयां वितरित किए जाने के साथ कोरोना जांच 24 घंटे में  दिलाए जाने के साथ ही निजी प्रयोगशालाओं में प्रशासन की देखरेख में  जांचों की छूट देने की मांग की है।

 भाजपा जिलाध्यक्ष तेली ने कहा कि जहां एक और केंद्र सरकार ऑक्सीजन वेंटिलेटर वैक्सीन इंजेक्शन आदि की आपूर्ति भरपूर करने के साथ संक्रमण पर काबू पाने के प्रयास किए तथा लाखों डॉक्टर कंपाउंडर व प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा दिन रात मेहनत कर आमजन की सेवार्थ अपनी जान को जोखिम में डालकर दिन रात मेहनत कर रहे है वहीं दूसरी ओर राज्य की कांग्रेस सरकार अधिकारियों को दबाव में लेकर पीएम केयर के वेंटिलेटर ओके साथ मुख्यमंत्री चिरंजीवी की योजना के नाम पर राजनीति कर आमजन को गुमराह कर रही है जो मानवता की इस जंग में उचित नहीं है।

इस प्रेस वार्ता का संचालन भाजपा जिला प्रवक्ता कैलाश सोनी ने किया इस दौरान जिला मीडिया प्रभारी महावीर समदानी जिला मंत्री  देवेंद्र डाणी मौजूद थे

बाजाद खुले, वाहनों की रेलमपेल रही और लोगो ने की खरीददारी

  भीलवाड़ा। जिले में लगभग पिछले दो माह से कर्फ्यु घोषित किया हुआ था राज्य सरकार के आदेशानुसार कर्फ्यु में ढ़ील देने के बाद बुधवार को सुबह 6 बज...