एक-दूसरे को बचाते हुए चचेरे भाई और भांजा डूबे, मौत:दो दिन पहले ही नाना के आया था मासूम, तीनों की मौत

 


बीकानेर। बीकानेर में डिग्गी में डूबने से तीन लोगों की मौत हो गई। तीनों मृतकों की उम्र महज दस, सोलह और अट्‌ठारह साल है। घटना 28 मई की है। निवार शाम इसकी जानकारी पुलिस को मिली। रविवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए गए। घटना बीकानेर के पूगल गांव से करीब पचास किलोमीटर दूर भानीपुरा की है। गांव में बनी एक डिग्गी के पास तीन लड़के बकरी चरा रहे थे। इनमें चचेरे भाई कालुसिंह (18) और रामसिंह (16) थे। साथ ही दोनों का 10 साल भांजा उपेंद्र सिंह भी साथ था। गर्मी की छुटि्टयों में ननिहाल आया हुआ था। गर्मी तेज होने के कारण एक लड़का नहाने के लिए डिग्गी में उतर गया। उसे डूबता देखकर दूसरा और फिर तीसरा भी डिग्गी में उतरा। इस दौरान तीनों की मौत हो गई। शनिवार शाम इस बारे में पूगल पुलिस को सूचना मिली तो पुलिस मौके पर पहुंची। थानाधिकारी महेश कुमार शिला और कांस्टेबल राजेंद्र ने मौके पर पहुंचकर शवों को बाहर निकलवाया। दे

ननिहाल आया था उपेंद्र

बीकानेर के कावनी गांव में रहने वाला उपेंद्र अपने नाना पेमू सिंह के घर आया हुआ था। इसी दौरान उसके नाना के भाई नरपत सिंह के बेटे कालू सिंह और राजूसिंह के बेटे राम सिंह के साथ वो बकरियां लेकर निकल गए। तीनों ही कपड़े खोलकर नहाने के लिए उतरे थे। फिर एक दूसरे की जान बचाने के चक्कर में डूब गए।

प्रशासन को सूचना नहीं

इस घटना के बाद पुलिस ने प्रक्रिया पूरी की लेकिन आला अधिकारियों तक ये सूचना नहीं पहुंची। पूगल प्रशासन की ओर से जिला प्रशासन को इस बारे में कोई रिपोर्ट नहीं दी गई। घटना के बारे में सोमवार सुबह प्रशासन को मीडिया से जानकारी मिली।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार