संतोष धन सब धन धुरी समान- पंडित व्यास

पुर BHN

भागवत कथा का सातवें रोज आज पंडित अशोक व्यास ने गोधन गज धन बाजी धन और रतन धन खान जब आवे संतोष धन सब धन धुरी समान  दरिद्रो यस्तु संतुष्टि दरिद्र वो है जो असन्तोसी है भगवान श्री कृष्ण और सुदामा की मित्रता ने सुदामा चरित्र को उत्तम बना दिया ओर सुदामा ने कहा श्री कृष्ण मेरा मित्र ही नही मेरा बचपन का लँगोटिया है और तीन मुठी चावल से 2 मुठी खाने के बाद स्वर्ग और पृथ्वी तक का सम्राट बना दिया जो कि मित्रता का अनूठा उपक्रम है इससे पूर्व भगवान के 16007 विवाह का चित्रण किया यह जानकारी राजेश शर्मा ने दी उन्होंने बताया कि आज भागवत जी की पूजा चंद्रकांता कौसल्या रजना चंदा साधना ऋचा सुमन टीना अन्नू हंसा कमलाशंकर ने की इससे पूर्व व्यास पीठ का सम्मान गुजरगोड़ ब्राम्हण समाज महिला इकाई की अध्यक्ष सावित्री देवी कमलादेवी मधु देवी रागिनी देवी सुमन त्रिवेदी के साथ चारभुजा महिला मंडल तथा साँवरिया महिला मंडल की ओर से स्वागत किया गया संचालन संगीता चौबे ने किया धेर्मेश शर्मा धरमेस व्यास राजेश कला शास्त्री नवनीत शर्मा राजेश राज जगदीश शर्मानीमच से आये 25 सदस्यों ने व्यास पीठ का सम्मान किया अंत मे प  व्यास ने कहा इस कलिकाल में हरिनाम प्रभु नाम संकीर्तन ही जीवन को सार्थक बना सकता है कलियुग केवल नाम आधारा सुमिर सुमिर नर उतरे ही पारा गौतम संस्थान के गनश्याम व्यास ने सभी का आभार व्यक्त किया और बताया कि इस आयोजन ने सभी के ह्रदय में प्रभु नाम स्थापित किया

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना