अजमेर दरगाह को मंदिर बताने वाले के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग

 


भीलवाड़ा BHN

राजस्थान के अजमेर जिले में स्थित हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह को मंदिर बताकर हिन्दुस्तान के सौहार्द को बिगाड़ने वाले तत्वों के खिलाफ मुस्लिम सद्भाव सेवा समिति के पदाधिकारियों के नेतृत्व में राष्ट्रपति के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।
नायब सदर रमजान मोहम्मद सौरगर ने बताया कि अजमेर स्थित हजरत ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह करोड़ों लोगों की आस्था की प्रतीक है, जहां हिन्दु मुस्लिम अपनी मिन्नत हेतु आते है। यह ऐसी पवित्र दरगाह है, जहां हिन्दुस्तान ही नहीं वरन् विश्व के कोने-कोने से दशनार्थी गरीब नवाज की दरगाह पर अपनी मन्नत मांगने आते है। ऐसी पवित्र दरगाह को मंदिर बताने वाले असामाजिक तत्वों को गिरफ्तार करके सख्त सजा दिलाई जायें ताकि दुबारा किसी को ऐसी नापाक हरकत करने का साहस ना हो। मुस्लिम सद्भाव सेवा समिति भीलवाड़ा गरीब नवाज दरगाह केसाथ किसी तरीके का अपमान सहन नहीं करेगी। ज्ञापन में ऐसे असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्यवाही मांग की गई। इस दौरान ताहिर पठान, रियाज पठान, फखरूद्दीन काजी, हमीद खां कायमखानी, रशीद रंगरेज, जाकिर सिलावट, अकरम सिलावट, आरीफ सिलावट, शाहिद पठान, शराफत बागवान, इश्तियाक भाई आदि उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार