मजदूर की मौत पर करणी सेना का फैक्ट्री पर धरना प्रदर्शन,10 लाख मुआवजे पर बनी सहमति

 

मंगरोप(मुकेश खटीक)/ रविवार रात मंगरोप थाना क्षेत्र के रीको एरिया स्थित रंजन फैक्ट्री के समीप वाहन की टक्कर से मजदूर की मौत हो गई थी।जिसे लेकर सोमवार सुबह परिजनों सहित करणी सेना और मजदूर फैक्ट्री के बाहर पहुंचकर मुआवजे की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे थे।जानकारी के अनुसार मृतक मंगरोप थाना क्षेत्र के घोड़ा का खेड़ा गांव हाल मुकाम मण्डपिया स्टेशन का निवासी है।मृतक का नाम रूप सिंह पिता उदय सिंह गौड़ उम्र 38 वर्ष है।युवक रंजन फैक्ट्री मे करीब 10 साल से मजदूरी कर रहा था।वह मंडपिया स्टेशन पर परिवार के साथ किराए के मकान में रह रहा था।मृतक के तीन संतान है जिसमे दो लड़किया और एक लड़का है।एक लड़की विकलांग होने के साथ ही मुक बधिर है।युवक परिवार के गुजर-बसर का एकमात्र सहारा था।परिवार के मुखिया की दर्दनाक मौत के बाद परिवार के गुजर बसर का मुआवजे के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं रह गया था। करणी सेना के पदाधिकारियों एवं मजदूरों के भारी विरोध प्रदर्शन के बाद फैक्ट्री मालिक मृतक के आश्रितो को 10 लाख का आर्थिक मुआवजा देने पर सहमत हुआ।ज्ञात रहे युवक रविवार रात करीब 8 बजे मंडपिया स्थित घर से रंजन फैक्ट्री मजदूरी करने जा रहा था तभी सामने से तेज गति से आ रही मिनी बस ने उसे चपेट मे ले लिया जिससे उसकी मोके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी थी।सोमवार सुबह मृतक के परिजनों को मुआवजा दिलाने की मांग को लेकर फैक्ट्री के मजदूरों सहित करणी सेना ने मौके पर पहुंचकर मुआवजे की मांग पर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया था।करणी सेना जिलाध्यक्ष बबलू सिंह शक्तावत ने बताया कि रविवार रात करीब 8 बजे राजपूत समाज के युवक की फैक्ट्री आते समय वाहन की चपेट मे आने से मोके पर ही दर्दनाक मौत हो गई थी।उस युवक की आर्थिक स्थिति कमजोर थी एवं उसके परिवार में कमाने वाला एकमात्र व्यक्ति था जिसकी दुर्घटना में मौत हो जाने से परिवार का भविष्य अंधकार में चला गया है।साथ ही कहा की करणी सेना अपने समाज के किसी भी व्यक्ति पर मुसीबत आने पर उसके साथ कदम से कदम मिलाकर खड़ी रहेगी।करणी सेना के पदाधिकारियों सहित फैक्ट्री मे कार्यरत मजदूरों द्वारा फैक्ट्री के बाहर उग्र प्रदर्शन कर मृतक के आश्रित परिजनों को 20 लाख का मुआवजा देने की मांग की थी और मुआवजा नहीं मिलने तक शव का पोस्टमार्टम भी नहीं करने देने की चेतावनी दी थी।करणी सेना के युवाओं ने जोर शोर से करणी सेना जिंदाबाद के नारे लगाए।इस दौरान आस पास क्षेत्र के राजपूत समाज के लोग भारी संख्या मे मौजूद रहे।करणी सेना की अगुवाई में लोगों ने फैक्ट्री मालिक का पुतला भी फूंका।मोके पर पहुंचे मंगरोप थाना प्रभारी ठाकरा राम सोउ ने लोगों से समझाइश के प्रयास भी किये थे।लेकिन दोपहर तक सहमति नहीं बन पाई थी।करीब 2.30 बजे सीओ सदर रामचंद्र चौधरी ने मौके पर पहुंचकर घटना का जायजा लिया और करणी सेना और लोगों से समझाइश करने के साथ ही मृतक के आश्रितो को 10 लाख के आर्थिक मुआवजा दिलाने की बात कही तब जाकर करणी सेना ने प्रदर्शन बंद किया।इस दौरान मौके पर मंगरोप व हमीरगढ़ थाना पुलिस का भारी पुलिस बल तैनात रहा।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना