कांग्रेस पार्टी का 138वां स्थापना दिवस मनाया

 


भीलवाड़ा । भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी का 138वां स्थापना दिवस जिला कांग्रेस कार्यालय गांधी भवन भीलवाडा में मनाया गया।
   पूर्व जिलाध्यक्ष कैलाश व्यास और सगंठन महासचिव महेश सोनी ने ध्वजारोहण कर कार्यक्रम की शुरुआत की। स्थापना दिवस के अवसर पर संगठन महासचिव महेश सोनी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने देश को आजाद कराया और देश को विकास की राह पर आगे बढाया हैं। सोनी ने कहा है कि राहुल गांधी के नेतृत्व में  चल रही ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ में कांग्रेस जन-जन तक पहुंची हैं और देश को एक रखकर नफरत छोड़कर भारत को जोड़ने की बात पहुंच रही हैं। आने वाले समय में कांग्रेस कार्यकर्ता ‘‘हाथ जोडो’’ कार्यक्रम में घर-घर तक पहुंचेगा और कांग्रेस को मजबूत करता हुआ एकता का संदेश देगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष मलीकार्जुन खडगे पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस मजबूती से आगे बढेगी।
                               पूर्व अध्यक्ष कैलाश व्यास ने कांग्रेस की स्थापना, स्वतंत्रता आंदोलन में कांग्रेस की भूमिका एवं देष के निर्माण में सहभागिता पर प्रकाश डालते हुए कांग्रेसजनों से कहा कि भीलवाडा जिले के स्वतन्त्रता सेनानियो का भी आजादी आन्दोलन में महत्वपूर्ण योगदान रहा हैं और हम उन्हीं के रास्ते पर चलकर प्रदेष की सरकार के लोक कल्याणकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुँचाकर यशस्वी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को मजबूती प्रदान करें।
                                कार्यक्रम में वरिष्ठ नेता अधिवक्ता मोहन लाल असावा एवं वरिष्ठ सेवादल के नेता पीरबख्श मंसूरी को माला पहनाकर एवं शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम नगर विकास न्यास के पूर्व चेयरमैन अक्षय त्रिपाठी, जिला उपाध्यक्ष दुर्गेश शर्मा, भंवर गर्ग, महासचिव रामगोपाल पुरोहित, अशोक जैन, मोहम्मद रफीक, पार्षद मुकेश शास्त्री, सुरेश बम्ब, नरेन्द्र सिंह गुढा, हेमराज आचार्य, अर्चना दूर्बे, मेवाराम खोईवाल, ओमप्रकाष आगाल, भगत प्रजापत, विनोद कुमार कसारा, षिवराज सुराणा, मुकेष खोईवाल, हरकचन्द कोठारी, भंवर लाल कोठारी, नाथूलाल डिडवानिया, पुष्पा मेहता, कुन्दन शर्मा, गोपाल पारीक आदि उपस्थित रहें।

टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना