संत समाज बोला-सरजूदास को झूंठा फंसाया, गवाहों का नार्को टेस्ट हो और जांच करें सीबीआई : संत समाज करेगा आन्दोलन

भीलवाड़ा (हलचल)। श्री विरक्त मेवाड़ संत संगठन सेवा संस्थान ने आज घोड़ास के हनुमान मंदिर के संत सरजूदास को झूंठा फंसाने और उसकी ख्याति को धमिल करने के मामले की निष्पक्ष जांच और प्रार्थिया व गांव के नार्को व पोलीग्राफी टेस्ट कराने के साथ ही सीबीआई से जांच कराने की मांग की है। अगर न्याय नहीं मिला तो संत समाज आन्दोलन पर उतर जाएगा। 
राजस्थान के विभिन्न हिस्सों से सैंकड़ों संत आज मुखर्जी उद्यान में जमा हुए। जहां से वे रैली के रूप में कलेक्ट्री पहुंचे जहां ज्ञापन लेने के लिए अधिकारी को बाहर आने की बात को लेकर कुछ समय तक विवाद भी हुआ और कहासुनी के बाद अतिरिक्त कलक्टर को संतों ने ज्ञापन दिया जिसमें कहा गया है कि महंत सरजूदास चम्पावत बाग करेड़ा और घोड़ास में 25 सालों से समाज को नई दिशा देने के लिए धर्म की राह पर काम कर रहे थे। उनकी ख्याति से दूषित भावना से ग्रस्त हो साजिश रच उनके खिलाफ झूंठे मुकदमा दर्ज कराना शुरू कर दिये ताकि संत को जेल भिजवाया जा सके। संत समाज ने ज्ञापन में कहा कि सरजूदास के खिलाफ पीडि़ता ने प्रथम बार बयानों में कई बार नाम नहीं दिया लेकिन कुछ समय बाद साजिश के तहत अपने बयान बदलकर संत को झूंठा फंसाने का प्रयास किया है। जब इस मामले में कोई साक्ष्य नहीं मिले तो पीडि़ता और उसकी पुत्री ने बौखलाहट में पुन: एक नई साजिश रचते हुए संत के खिलाफ पोक्सो एक्ट में मामला दर्ज करा दिया। संत समाज ने जांच पर भी अंगुली उठाई है और कहा कि तुरत फुरत में महंत सरजूदास को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। इस मामले में प्रार्थिया एवं प्रमुख गांव का नार्को व पोलीग्राफ टेस्ट कराने और सीबीआई से जांच की मांग उठाई। ज्ञापन देने वालों में श्यामसुंदर दास, लाल बाबा, गंगादास, महंत नंदराम, रामदास त्यागी, गोविंददास, मुरलीदास, मैथिलीशरण, जगरामदास, रामेश्वरदास के साथ ही गणेश प्रजापत, बालमुकुन्द शर्मा, विजय ओझा आदि शामिल थे।


टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

घर की छत पर किस दिशा में लगाएं ध्वज, कैसा होना चाहिए इसका रंग, किन बातों का रखें ध्यान?

समुद्र शास्त्र: शंखिनी, पद्मिनी सहित इन 5 प्रकार की होती हैं स्त्रियां, जानिए इनमें से कौन होती है भाग्यशाली

सुवालका कलाल जाति को ओबीसी वर्ग में शामिल करने की मांग

25 किलो काजू बादाम पिस्ते अंजीर  अखरोट  किशमिश से भगवान भोलेनाथ  का किया श्रृगार

मैत्री भाव जगत में सब जीवों से नित्य रहे- विद्यासागर महाराज

महिला से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक आरोपित गिरफ्तार

घर-घर में पूजी दियाड़ी, सहाड़ा के शक्तिपीठों पर विशेष पूजा अर्चना