गहलोत बोले-राजस्थान में कहीं भी साम्प्रदायिक दंगा नहीं हुआ:तनाव की घटनाएं समय पर की कंट्रोल

 

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राजस्थान में कहीं भी साम्प्रदायिक दंगा नहीं हुआ और तनाव की घटनाओं पर समय रहते कंट्रोलिंग की गई है। आज पूरे देश में तनाव और अशान्ति का माहौल है। रामनवमी पर 7 राज्यों में समान पैटर्न पर दंगे हुए। जिनके पीछे की गहरी साजिश की केन्द्रीय लेवल पर जांच कराने के लिए देश के गृहमंत्री अमित शाह से आग्रह किया है। उन्होंने राजस्थान पुलिस और गृह विभाग के आला अफसरों से कहा कि हाल ही हुई सांप्रदायिक तनाव की घटनाओं का रिपीटेशन रोकने के लिए इंफॉर्मेशन सिस्टम को मजबूत करें। गहलोत ने कहा कि प्रदेश में होने वाली हर घटना की बिना किसी भेदभाव के गहराई से जांच की जाए। कम्युनिटी भागीदारी बढ़ाने के लिए शांति समिति,सीएलजी, पुलिस मित्र, ग्राम रक्षक और सुरक्षा सखियों के साथ अच्छा तालमेल करके कानून व्यवस्था में इनका इस्तेमाल करें। ड्रोन और सीसीटीवी कैमरा जैसे टेक्नीकल इंस्ट्रूमेंट्स का इस्तेमाल कर निगरानी सिस्टम को मजबूत बनाया जाए।

आदतन अपराधियों के खिलाफ विशेष अभियान चलाएं

गहलोत ने बुधवार को राजस्थान में लॉ एंड ऑर्डर की समीक्षा करते हुए राजस्थान पुलिस के आला अफसरों को कहा कि रिपीट ऑफेंडर्स और आदतन अपराधियों के खिलाफ प्रदेश में विशेष अभियान चलाया जाए। अपराधियों के खिलाफ NSA,राजस्थान समाज विरोधी क्रियाकलाप निवारण एक्ट (राजपासा) और गुंडा एक्ट में कार्रवाई की जाए। खास तौर पर साम्प्रदायिक संवेदनशील एरिया में विशेष सतर्कता बरतें। गहलोत ने कहा आपराधियों के खिलाफ प्रभावी और निष्पक्ष कार्रवाई की जाए। इसके लिए पुलिस अधिकारी स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर मौका निरीक्षण करें। साथ ही मीडिया और सोशल मीडिया की मदद से फैक्ट्स की सही जानकारी जनता को दें। उन्होंने कहा टेक्नीकल सर्विलांस का भी इस्तेमाल किया जाए। गहलोत ने कहा पुलिस की प्रभावी कार्रवाई से कानून का इकबाल कायम होगा और जनता को राहत मिलेगी। इसके लिए सभी जिलों और सम्भागों में पुलिस-प्रशासन के अधिकारी सतर्क रहकर क्राइम कंट्रोलिंग करें। साथ ही राज्य में शांति और भाईचारे का माहौल बनाए रखने के लिए मॉनिटरिंग करें।

जिला कलेक्टर करें मौके का इंस्पेक्शन

मुख्यमंत्री ने कहा कि डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर्स जिला, सब डिविजन और तहसील लेवल पर अफसरों के साथ जॉइंट रूप से मौके का इंस्पेक्शन करें। ताकि छोटी घटनाओं को और ज्यादा भड़ने से रोका जा सके। उन्होंने कहा आमजन में विश्वास और अपराधियों में डर पैदा होना चाहिए। सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने वालों की ओर से फैलाई जाने वाली अफवाहों के बारे में लोगों को तुरंत फैक्चुअल स्थिति दी जानी चाहिए। इसके लिए सोशल मीडिया का इफेक्टिव इस्तेमाल किया जाए। उन्होंने बीट कांस्टेबल लेवल पर वाट्सऐप पर ग्रुप बनाकर इंटेलेक्चुअलल्स और लोकल लेवल पर काम करने वाले लोगों को जोड़ने के भी निर्देश दिए।

218 अपराधी गिरफ्तार,1300 क्रिमिनल्स पर कार्रवाई

बैठक में अफसरों ने मुख्यमंत्री को बताया कि 4 मई से लेकर अब तक प्रदेश में पुलिस ने साम्प्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने वालों के खिलाफ 'ऑपरेशन शिकंजा' चलाकर 218 अपराधियों की गिरफ्तारी की है। कुल 1300 से ज्यादा क्रिमिनल्स के खिलाफ अब तक कार्रवाई की जा चुकी है। इस अभियान में पहले के वांटेड, साम्प्रदायिक घटनाओं में लिप्त और सोशल मीडिया पर साम्प्रदायिकता फैलाने वालों पर कार्रवाई की जा रही है।

गृह राज्यमंत्री राजेन्द्र सिंह यादव,मुख्य सचिव उषा शर्मा,डीजीपी एम.एल, लाठर, एसीएस होम अभय कुमार, प्रमुख सचिव वित्त अखिल अरोड़ा, एडीजी क्राइम आरपी मेहरडा, एडीजी एसओजी अशोक राठौड़, एडीजी कानून-व्यवस्था हवासिंह घुमरिया सहित सभी संभागीय आयुक्त, पुलिस आईजी, जिला कलक्टर,एसपी और सीनियर पुलिस अफसर भी वीसी के जरिए रिव्यू बैठक में जुड़े।



टिप्पणियाँ

समाज की हलचल

देवा गुर्जर की गैंगवार में हत्या, विरोध में रोडवेज बस में लगाई आग !

देवा गुर्जर हत्या का मुख्य आरोपी दुर्गा गुर्जर गिरफ्तार 3 साथी भी पकड़े गए

वीडियो कोच ने स्कूटर को लिया चपेट में, दो बहनों की मौत, भाई घायल, बागौर में शोक

शराब के नशे में महिला सहित 4 लोगों ने किया तमाशा वीडियो वायरल

आदर्श तापड़िया मर्डर: परिजनों से समझाइश का दूसरा दौर शुरू

मांडल में विवादित कुर्क जमीन मामले को लेकर जुटी भीड़, पुलिस ने लाठियां भांज कर दो किलोमीटर तक खदेड़ा,बाजार बंद

हत्या पर हंगामा, देवा गुर्जर के समर्थकों ने फूंकी बस, मॉर्चरी के बाहर बरसाए पत्थर